आपका प्‍यार लव नहीं लस्‍ट है जानें लव और लस्‍ट में अंतर

हमें नहीं पता कि आप अपने रिलेशनशिप में प्‍यार महसूस करते हैं या लस्‍ट। लेकिन हम इसे 10 संकेतों से जरुर बता सकते हैं कि आपका दिल क्‍या सोंचता है… अगर आप कॉलेज गोइंग हैं या फिर आपको प्‍यार का कोई पहले तजुर्बा नहीं हुआ है तो, आपको प्‍यार और लस्‍ट में धोखा जरुर हो सकता है। आज कल जिसे देखो वही दोस्‍तों या सोसाइटी के प्रेशर में आ कर गर्लफ्रेंड या बॉयफ्रेंड बनाने के जुगाड़ में लगा पड़ा हुआ है।

ऐसे में आपका रिलेशनशिप कुछ दिन तो बड़े मजे में कटता है लेकिन बाद में समझ में आता है कि आप दोनों एक दूसरे के लिये बने ही नहीं थे। लस्‍ट पर बना रिश्‍ता एक चिंगारी की तरह होता है, जो थोड़ी सी लगती है और तेज जल कर तुरंत ही बुझ जाती है। दूसरी ओर प्‍यार बिना एक दूसरे को छुए ही लंबे समय तक टिका रहता है।

यह एक लंबी लकड़ी की तरह है जो जलने में थोड़ा ज्‍यादा समय तो लेती है मगर लंबे समय तक जलती रहती है। वासना अस्‍थायी होती है जबकि प्‍यार अधिक स्थायी और स्थिर होता है। अब आइये जानते हैं लव और लस्‍ट में क्‍या फरक है बस कुछ ही संकेतों के दृारा

रिश्‍ते का हर पहलू केवल सेक्‍स के इर्दगिर्द घूमता है

अगर आप वासना से भरे हुए हैं तो आप अपनी पार्टनर से केवल सेक्‍स करने के मकसद से ही चिपकेंगे। इसका मतलब है कि आप उससे प्‍यार भरी बातें और रोमांस केवल उसे बेडरूम तक ले जाने के लिये करेंगे। वहीं सच्‍चे प्‍यार में पड़े लोग केवल एक दूसरे के साथ समय बिताना चाहते हैं और एक दूसरे को दिल से जानना चाहते हैं।

लस्‍ट में केवल शारीरिक सुंदरता पर होता है जोर

लस्‍ट से भरे लोग खुद को अच्‍छे से तैयार करने में, फिट रखने में और अच्‍छा दिखने में विश्‍वास रखते हैं। आप ऐसा क्‍यूं करते हैं? क्‍योंकि आपको केवल सेक्‍स चाहिये। आप चाहते हैं कि आप सुंदर दिखें जिससे दूसरा व्‍यक्‍ति आपको देख कर फिदा हो जाए। पर वहीं प्‍यार में पड़ा व्‍यक्‍ति इस बात की चिंता नहीं करता कि उसने क्‍या पहना है या फिर वह कैसा दिख रहा है।

आप खुद को बिल्‍कुल परफेक्‍ट दिखाते हैं

आप ऐसी दुनिया में जीते हैं जहां हर चीज़ बिल्‍कुल परफेक्‍ट लगती है। आप खुद को बिल्‍कुल परफेक्‍ट बना लेते हैं और अपने पार्टनर को दिखाते हैं कि आपके अंदर तो कोई खामि है ही नहीं। लेकिन प्‍यार में पड़े लोग अपनी सच्‍चाई अपने पार्टन को जरुर बताते हैं क्‍योंकि कोई भी इंसान पूरा परफेक्‍ट नहीं हो सकता।

आप दोनों के बीच में कोई दोस्‍ती नहीं है

कई बार रोमैंटिक रिलेशनशिप की शुरुआत दोस्‍ती से होती है। जिन लोगों का रिश्‍ता केवल लस्‍ट पर टिका होता है, उनके रिश्‍ते में दोस्‍ती की कोई जगह ही नहीं आती। दोस्‍ती तो आपके प्‍यार को और मजबूत करती है।

Gyan Dairy

आप अपनी पार्टनर को ठीक से नहीं जानते

लस्‍ट में पड़े हैं तो आप दोनों का रिश्‍ता केवल बेड़ तक ही सीमित होता है। इस रिश्‍ते में ना आप उनके दिल की इच्‍छाओं को जानने में इंट्रेस्‍ट रखते हैं और ना ही वह आपके। आपको दोनों का सारा समय केवल सेक्‍स में बीतता है मगर प्‍यार करने वाले लोग एक दूसरे को जानने की पूरी कोशिश करते हैं।

आपको अपने राज़ खुलने का डर सताता है

जब आप प्‍यार में होते हैं, तब शायद ही आप अपनी समस्‍याओं को अपनी पार्टनर से छुपाते हैं। आप उन पर बेहद भरोसा करते हैं और सारी राज की बातें बिना डरे उनसे शेयर करते हैं। वहीं अगर आपके अंदर लस्‍ट है तो, आप अपनी पार्टनर से हर बात यह सोंच कर छुपाएंगे कि कहीं वह आपका राज किसी के सामने खोल ना दे।

लस्‍ट में अंतरंगता नहीं आती

लस्‍ट से भरे लोग चाहे जितना समय सेक्‍स कर के बिता लें… वह एक दूसरे के दिल के उतना करीब नहीं आ सकते हैं जितना कि प्‍यार करने वाले लोग। अंतरंगता हमेशा सेक्स के होने का मतलब नहीं होता है। अंतरंगता तो बिना एक दूसरे को छुए भी महसूस की जा सकती है।

आप कमिटिड महसूस नहीं करते

क्‍या आप दोनों लंबे समय से इस रिलेशनशिप में हैं और दूसरे के लिये प्‍यार महसूस नहीं कर पा रहे हैं?? तो समझ जाइये कि आप का रिश्‍ता केवल लस्‍ट से भरा था और कुछ नहीं।

आपके कोई फ्यूचर प्‍लैन नहीं हैं

प्‍यार में पड़ा व्‍यक्‍ति अपने फ्यूचर को लेकर काफी सारे सपने बुनता है। वह अपनी जिंदगी में ऐसे बदलाव करना शुरु कर देता है जिससे दोनों को ही आगे चल कर फायदा हो। यानी वह दोनों के लिये सोंचता है। पर अगर वासना का सवाल है तो व्‍यक्‍ति केवल सेक्‍स के ही बारे में सोचेगा और चलता बनेगा।

आखिरकार, सेक्स बोरिंग लगने लगता है

एक वासना आधारित रिश्ते की सबसे बड़ी विडंबना यह है कि आखिर में सेक्‍स बोरिंग लगने लगता है। उसके बाद आप अपनी सेक्‍स की इच्‍छाओं को पूरा करने के लिये अगले व्‍यक्‍ति को खोजना शुरु कर देंगे। वहीं प्‍यार में पड़े लोग हर पल का अच्‍छी तरह से आनंद लेते हैं।

Share