पहले इंटरकोर्स में दर्द, सच या मिथक

ऐसा माना जाता है कि पहले इंटरकोर्स में महिलाओं को योनि में दर्द होता है जबकि यह सिर्फ एक भ्रम है। लोगों ने अपने मन में इसको लेकर कई गलत धारणाएं बनाएं हुई है खासकर महिलाओं ने। यह सच है कि पहले इंटरकोर्स के दौरान या फिर पहले इंटरकोर्स के बाद दर्द होता है लेकिन बहुत ज्यादा नहीं और ऐसा सभी महिलाओं में हों यह आवश्यक नहीं। दरअसल, यह कोई सेक्‍स समस्‍या नहीं है।

महिलाओं में पहले इंटरकोर्स के बाद दर्द के कई कारण हो सकते हैं ।दरअसल हर महिला की शारीरिक बनावट अलग होती है। जिसके कारण उसकी परेशानियां भी अलग-अलग होती है। कुछ महिलाओं में इंटरकोर्स के दर्द के बाद यूरिनेशन के दौरान भी दर्द की समस्या होती है। आइए जानें पहले इंटरकोर्स में दर्द के बारे में कुछ और बातें।

Gyan Dairy
  • सिर्फ पुरुषों को ही नहीं बल्कि महिलाओं की भी सेक्स् में रूचि होती है। लेकिन सही तरीके से संभोग न करने या फिर तनाव होने से महिलाओं में शारीरिक और मानसिक परेशानी होने की संभावना रहती है।
  • कई बार जबरन सेक्स या फिर अनिच्छा से किए जाने वाले सेक्स के दौरान महिलाओं को इंटरकोर्स में दर्द होता है।
  • पहले इंटरकोर्स में दर्द का कारण मन में बैठा दर्द भी हो सकता है जिसके कारण महिलाएं पूरी तरह से सहयोग देने में असमर्थ होती है।
  • बहुत सी महिलाओं में सेक्स को लेकर कई गलत धारणाएं और डर होता है जिससे पहली बार सेक्स करने के दौरान वे पूरी तरह से सक्रिय नहीं हो पाती। नतीजन उन्हें यूरिनेशन के दौरान दर्द होने लगता है या फिर महिलाओं में वैजाइनल डिसचार्ज समय से पहले ही हो जाता है।
  • कई बार कोई बुरी घटना की वजह से महिलाओं के मन में सेक्स के प्रति अरूचि उत्पन्न हो जाती है जिससे वह अपने पार्टनर के साथ असहज हो जाती है और साथी के छूने के बाद एकदम असहज और घबराहट से भर जाती हैं जिससे वे थोड़ी सी तकलीफ होते ही दर्द से कराहने लगती हैं
  • कई बार महिलाएं बहुत जल्दी उत्तेजित नहीं होती लेकिन उनका पार्टनर इसके बावजूद भी इंटरकोर्स करता है तो इंटरकोर्स में दर्द होने की संभावनाएं बढ़ जाती है।
  • योनि में किसी तरह के इंफेक्श न से भी पहले इंटरकोर्स में दर्द हो सकता है।
  • कुछ महिलाओं को इंटरकोर्स के दौरान तीव्र दर्द होता है। कई बार यह दर्द बहुत ज्यादा होता है और ऐसे में महिला सेक्स से बचने लगती है। जो दोनों के संबंधों को खराब कर सकता है। पेनफुल इंटरकोर्स का कारण लुब्रिकेशन में कमी या सही ढंग से फोरप्ले न होना हो सकता है।
  • कई बार इन्फेक्शन या एंडोमेट्रियोसिस होने पर भी यह प्रॉब्लम हो सकती है।
  • कई बार संभोग की कोशिश के दौरान योनि में संकुचन आने के कारण दर्द होने लगता है और उसके साथी को इस बात का आभास नहीं होता जिससे जबरन कोशिश करने से दर्द अधिक होने लगता है।
  • पीरियड्स के दौरान सेक्स को सुरक्षित माना जाता है और यदि पहली बार इंटरकोर्स किया जा रहा है तो पीरियड्स के कारण से और भी अधिक पेनफुल हो सकता है।

कहने का अर्थ है कि पहले इंटरकोर्स के बाद दर्द होना स्वाभाविक नहीं है बल्कि उसके पीछे दर्द के कारण है, साथ ही यूरिनेशन के दौरान दर्द भी इसी का एक हिस्सा है। लेकिन महिलाओं में वैजाइनल डिस्चार्ज होना स्वाभाविक है क्योंकि यह अधिक उत्ते्जना के बाद ही होता है।

Share