सेक्स शिक्षा में अभिभावक की जिम्मेदारी

आजकल बच्चों के लिए सेक्स शिक्षा बहुत जरूरी है। बच्चों को सेक्स शिक्षा देने में उनके अभिवावक का बहुत अहम रोल होता है। बच्चों को सेक्स की शिक्षा देने से उनके मन में इसको लेकर कोई भ्रांति नहीं रहेगी। कई बार बच्चों के मन में टीवी देखकर या अखबार पढ़कर कई तरह के प्रश्न उठते हैं। ऐसे में अभिवावक की जिम्मेदारी बनती है कि वे बच्चे के प्रश्नों का जवाब सही व सरल ढंग से दें, जिससे उसे समझ आ जाएं। बच्चे जब अपने आस पास चीजों को देखते हैं तो उनसे संबंधित उनके मन में कई सारे सवाल होते हैं जिसे वे अपने माता-पिता से पूछते हैं।

सेक्स शिक्षा जरुरी

निश्चय ही सेक्स एक ऐसा मुद्दा है, जिसके बारे में बच्चों से बात करने के पहले अभिभावक को काफी सोचना पड़ता है कि वे इसकी शुरुआत कैसे करें, क्या बताएं और क्या नहीं। लेकिन अगर अभिभावक बच्चों को इसके बारे में नहीं बताएंगे तो बच्चे कहीं और से इसकी जानकारी हासिल करने की कोशिश करेंगे जो कि खतरनाक साबित हो सकती है बच्चों के लिए।

Gyan Dairy

कैसे करें चर्चा

  • चित्रों वाली किताब के जरिए बच्चों को समझाने की कोशिश करें।
  • समूह में चर्चा की मदद से अभिभावक बच्चों के सवालों के जवाब देकर उनकी जिज्ञासाओं को शांत कर सकते हैं।
  • बच्चों के साथ डॉक्यूमेंट्री व शार्ट फिल्मों को देखकर उन्हें इसके बारे में बताया जा सकता है।
  • बच्चों के सवालों का जवाब बिना किसी हिचकिचाहट के साथ देना चाहिए। अभिवावकको हमेशा याद रखना चाहिए कि उनके हिचकिचाने से बच्चे में भी हिचकिचाहट आएगी और वो कुछ भी खुलकर नहीं पूछ पाएगा

बच्चों को सेक्स शिक्षा देने के कुछ आसान टिप्स

  • बच्चों से सेक्स पर चर्चा तभी करना चाहिए जब वह इसके लिए तैयार हो मतलब किशोरावस्था में जब वह थोड़ा सा समझने लगे।
  • बच्चों को सिर्फ सेक्स व प्रेंगनसी के बारे में ही बताना जरूरी नहीं है, उन्हें गर्भ नियोजन के बारे में भी जरूर बताएं।
  • अगर आप खुद बच्चों से बात करने में डर रहें हो तो इस बारे में बच्चों को बताने के लिए आप किसी चिकित्सक की मदद ले सकते हैं।
  • हमेशा ध्यान रहे कि बच्चों की जिंदगी के निर्णय उनकी जानकारी पर निर्भर होते हैं जो आप उन्हें देते हैं। अगर यह दिमाग में रखें तो आप अपने बच्चों को बिना किसी डर व संकोच के सेक्स शिक्षा दे सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share