कैसे बनाए अपनी सास से मधुर संबन्‍ध

भारत में सास – बहू के रिश्‍ते के बारे में कई सीन देखने को मिलते है, यहां के 70 प्रतिशत टीवी सीरियल्‍स भी सिर्फ सास – बहू के रिश्‍ते पर आधारित होते है। माना जाता है कि सास अपनी बहू पर हुक्‍म चलाने की कोशिश करती है और बहू, हुक्‍म टालने की। लेकिन ऐसा नहीं है, अगर दोनों समझदार है तो ऐसी स्थिति पैदा नहीं होती है। एक अच्‍छी बहू भी पूरे घर को अच्‍छी तरह संभाल सकती है और सास से होने वाली नोंक – झोंक से भी बच सकती है।

यह फैक्‍ट है कि जब आप किसी नए परिवेश या माहौल से आते है तो दूसरी जगह एडजेस्‍ट करने में समय लगता है लेकिन समझ के साथ ऐसा करना आसान हो जाता है। इसलिए पर्याप्‍त समय दीजिए। घर को अच्‍छी तरह चलाने का सबसे सही तरीका झगड़ों से बचना है। अपनी सास के साथ बेवजह की बहस या किचेन पॉजिटिक्‍स करना अच्‍छी बात नहीं है, उनके साथ सम्‍बंधों में मधुरता बनाएं रखने की कोशिश करें। कई औरतें अपनी सास को चुडैल समझने लगती है, ऐसा कतई न करें, उनकी उम्र और समझ के हिसाब से उन्‍हे समझें और साथ दें। आइए जानते है सास से होने वाली नोंक – झोंक से बचने के खास टिप्‍स

उनके काम को सराहें

शायद ही कोई महिला ऐसी होगी जिसे अपने काम की तारीफ पंसद न आती हो। अपनी सासू मां के साथ भी यही करिए। उन पर भरोसा करिए और जिम्‍मेदारी वाले काम उन्‍हे करने दीजिए। इसके अलावा, उनके द्वारा किए जाने वाले हर काम की तारीफ करिए, जैसे – उन्‍होने अपने बेटे के स्‍वेटर बनाया हो या बेटी के लिए अचार, आपको सिर्फ तारीफ करना है। उनकी उम्र आपसे कहीं ज्‍यादा है तो तर्जुबा भी आपसे ज्‍यादा होगा, इस लिहाज से उनका और उनके काम का सम्‍मान करें।

अलग न करें

कई बार बहूएं अपनी सास को कई मुख्‍य निर्णय लेते समय अलग कर देती है और अपने मन का काम करती है। निर्णय छोटा हो या बड़ा, उनकी राय और सलाह हमेशा लें, इससे उनमें आपके लिए प्‍यार और अपनत्‍व की भावना आएगी। एक बहू होने के नाते आपको यह बात समझना जरूरी है कि जो आज आपका है, वह पहले उनका था।

दोस्‍ताना व्‍यवहार रखें

आपकी सास नेकदिल है लेकिन आप उनसे एक दूरी बनाकर रखती है, ऐसा कतई न करें। सास भी आपकी मां की तरह ही एक औरत है, उनके भी दिल है, उन्‍हे भी प्‍यार करना आता है। उनके साथ उनकी उम्र को समझते हुए बातें करें, दोस्‍ताना व्‍यवहार रखें और समय दें। इस तरीके से कई विवादों से बचा जा सकता है।

Gyan Dairy

समय दें

क्‍या जब आप अपने पति से पहली बार मिली थी, तो तुंरत प्‍यार हो गया था, नहीं आपने उन्‍हे समय दिया, बात की, समझा और तब उनसे प्‍यार हुआ। ऐसा ही आपकी सास के साथ है। शादी के बाद सिर्फ अच्‍छे की उम्‍मीद करना गलत है, आपको उन्‍हे समझना होगा। उनके साथ टीवी देखें, बाहर जाएं, शॉपिंग करें, इससे आप दोनों के बीच की बॉन्डिग बढ़ेगी।

आपसी झगड़े में उन्‍हे न घसीटे

पति और पत्‍नी के बीच हमेशा खटपट चलती रहती है। आपसी लड़ाई में अपनी सास को कभी बीच में न लाएं। कई बार औरतें आपसी लड़ाई में सास का नाम ले लेती है और इस तरह उनके अपनी सास के साथ रिलेशन बिगड़ जाते है। एक अच्‍छी बेटी होने के नाते भी आप उनकी भावनाओं और असुरक्षा की भावना को समझ सकती है, ऐसे में कलह की बात न करें।

अपनी बात कहना सीखें

अगर आपको किसी लगता है कि हर मोड़ पर आपकी सास अपने बेटे का पक्ष लेती है तो अपनी बात सही तरीके से कहना सीखें। लड़ाई और प्रपंच न करें। जो चाहती है वो सभी के सामने स्‍पष्‍ट रूप से कहें। कई बार सास चाल खेलती है और बेटे को अपनी ओर करने की कोशिश करती है ताकि आपकी हालत खराब की जा सकें। ऐसा कभी लगे तो स्‍टैंड लें और खुद के लिए बोलें।

ससुराल वालों से दोस्‍ती रखें

सिर्फ सास के साथ ही नहीं बल्कि अपने अन्‍य ससुरालीजनों के साथ मधुर सम्‍बंध बनाकर रखें। आप उनके साथ सोशल साइट्स पर जुड़े। हालांकि ऐसा करने के बाद आपका पर्सनल खत्‍म होने का ड़र रहता है लेकिन बाद में बैलेंस भी आपको करना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share