शादी के बारे में लोग क्‍यूं नहीं बताते ये बातें

शादी एक ऐसा लड्डू है जो खाता है वो भी पछताता है और जो नहीं खाता है, वह भी पछताता है। लोग शादी करने की सलाह एक उम्र पार करने के बाद देने ही लगते हैं, लेकिन कभी भी उसके बारे में पूरी बात नहीं बताते हैं। शादी एक ऐसा निर्णय होता है जिसे लेने के बाद कई बार लोग सिवाय पछताने के कुछ नहीं करते हैं।

जब भी शादी-शुदा जिन्‍दगी में कुछ गलत हो जाता है तो लोग सिर्फ हाथ पर हाथ धरे रह जाते हैं लेकिन कुछ समय बाद फिर से लोगों को अकेले न रहने की सलाह देते हैं। सभी को लगता है कि शादी के बाद जिन्‍दगी पूरी हो जाती है और फिर कोई और चाहत नहीं बचती है। लेकिन असल आफत की जड़ यहीं से शुरू होती है। आज इस आर्टिकल में हम आपको ऐसे ही कुछ फैक्‍स से रूबरू करवाने जा रहे हैं जो आपको कोई भी नहीं बताएगा। आइए जानते हैं शादी के बारे में कुछ ऐसे फैक्‍ट

आकर्षण खत्‍म होना

शादी आप कितने भी हैंडसम लड़के या कितनी भी ब्‍यूटीफुल लड़की से कर लीजिए, लेकिन कुछ समय आपका आपस में झुकाव खत्‍म हो जाता है और किसी भी तरह का आकर्षण नहीं चलता है।

एकाधिकार

शादी के बाद पार्टनर में आपसी सामंजस्‍य तो होता है लेकिन किसी एक की बात ज्‍यादा मानी जाती है। ऐसे में कई बार तनाव हो जाता है लेकिन शादी चलती रहती है क्‍योंकि सभी को लगता है कि ऐसा होना बेहद सामान्‍य बात है।

दिल भर जाना

सुनकर थोड़ा अजीब जरूर लगता है लेकिन शादी के बाद पति-पत्‍नी के बीच वो प्‍यार और झुकाव नहीं रह जाता है जो पहले होता है। कभी न कभी उनका दिल एक दूसरे से भर जाता है। उनके बीच निराशा आ जाती है।

Gyan Dairy

नफरत

ये सच है, पार्टनर्स के बीच एक समय ऐसा आता है कि उन्‍हे एक-दूसरे से नफरत हो जाती है। ऐसा मानवीय प्रकृति के कारण होता है, थोड़ा ब्रेक देने के बाद सब कुछ नॉर्मल हो जाता है।

बच्‍चे के बाद सब ठीक

कई बार लोगों का मानना होता है कि अगर उनके बच्‍चे हो जाएं तो सब कुछ ठीक हो जाएगा। लेकिन ऐसा नहीं होता है बल्कि बच्‍चों के पैदा होने के बाद स्थिति और भी गंभीर हो जाती है।

हनीमून स्‍टेज खत्‍म

प्‍यार से दिन भर लिपटने वाले दिन ज्‍यादा नहीं चलते हैं। शादी के कुछ ही हफ्तों के बाद प्‍यार हवा हो जाता है और पार्टनर्स धरातल पर आते हैं।

चीजें बिगड़ जाती हैं

शादी के बाद हर चीज़ बिल्‍कुल सही नहीं चलती है, कुछ चीजें बिगड़ भी जाती हैं। मनुष्‍य की प्रकृति होती है कि वो आपस में सहमत और असहमत होते रहते हैं। लेकिन वो रिश्‍ते सुधारने का भरपूर प्रयास करते हैं।

Share