आखिर क्यों पराई औरत के लिए धड़कता है मर्दों का दिल !

ऐसा कहा जाता है कि रिश्ते ऊपर से ही बनाकर आते है, धरती पर तो बस शादियां होती है। ये रिश्तें सात जन्मों से लेकर जन्म-जन्मांतर तक रहते है शायद इसलिए शादियो में सात फेरों का रिवाज रहता है।

लेकिन ऐसा क्या हो जाता जब ऐसा समय आता है कि लोग आपस में बेवफा हो जाते है। खासकर मर्दों के बारे में कहा जाता है कि वे शादी के कुछ सालो बाद ही पराई औरतो के चक्कर में पड़ जाते है। ऐसा क्या हो जाता है कि सात जन्मों की बात करने वाले रिश्ते में महज कुछ सालों बाद ही दरार पड़ने लगती है। यहाँ हम ऐसे ही कुछ तथ्य बताने जा रहे है जिनकी वजह से मर्दों को पराई औरत ज्यादा अच्छी लगती है

बच्चा हो जाने के बाद

ऐसा अक्सर देखा गया है कि बच्चा हो जाने के बाद कपल की जिंदगी पूरी तरह बदल जाती है, क्योंकि बच्चे आने के बाद महिलाएं ये भूल जाती है कि उनका पति भी है। उनकी प्राथमिकता अब बच्चा हो जाता है, जिस वजह से पति वो अपना पुराना प्यार कही और तलाशनें लगता है। इसलिये ये स्वाभाविक है कि वो पराई औरत के प्रति कुछ ज्यादा ही आकर्षित होने लगता है।

समय के साथ वो आकर्षण भी कम होना एक कारण

शादी के बाद हमने देखा है कि कपल के बीच एक जबरदस्त प्यार और सम्मान की भावना रहती है। लेकिन कुछ सालों के बाद लोगो की सोच बदलने लगती है और उनके बीच पहले जैसा आकर्षण कम होता जाता है। जिससे धीरे-धीरे वो लोग एक-दूसरे के बीच पहले जैसा कुछ नही पाते है जिसका नतीजा ये है कि वे लोग बेवफा होने लगता है।

सेक्सुअल संतुष्टि ना मिलने पर

किसी की भी लाइफ में सेक्सुअल सेटिस्फेक्शन भी एक बहुत बड़ा रोल अदा करती है। ये सिर्फ एक शारीरिक ही नहीं बल्कि एक मानसिक संतुष्टि का भी विषय है। कई बार कपल्स को अपने पार्टनर से वो प्यार नही मिल पाता है, जिस वजह से वो पराई औरत के प्रति आकर्षित होने लगते है।

बदलता माहौल भी है जिम्मेदार

आजकल जिस तरह से टेलीविज़न और फिल्मों में विवाहेत्तर संबंधो के बारे में बताया जाता है, जिससे ये लगता है कि कुछ भी गलत नहीं है। ये माहौल भी लोगो की मानसिकता में बड़ा बदलाव लाता है जिससे उनको लगता है कि हम जो कर रहे है वो सही है।

Gyan Dairy

जरुरत से ज्यादा उम्मीद रखना

किसी भी रिश्ते के लिए ये बात खतरनाक साबित हो सकती है कि हम जरुररत से ज्यादा किसी से उम्मीद रखे क्योंकि जब कोई हमारी उम्मीदों पर खरा नही उतरता है तो दिल टूटने लगता है। यही बात पति-पत्नी के रिश्ते में भी लागू होती है, और जब अपना पार्टनर उम्मीदों पर खरा नहीं उतर पाता है तो लोग बेवफा होने लगते है।

सम्मान ना मिलने पर

कई बार देखा गया है कि अगर लड़की वाले ज्यादा पैसे वाले है तो वो लड़के को उस तरह की सम्मान वाली नजरो से नहीं देखते है। जब पत्नी खुद ही इस तरह का सम्मान भाव नहीं रखेगी तो लाज़िमी है कि कोई भी इंसान वही जायेगा जहां उसको सम्मान मिलता हो।

जरुरी नहीं की मर्द ही बेवफ़ा हो

अक्सर सुनने को मिलता है कि औरते अपने पति के बाहर जाते ही अपने रंग रूप दिखाना शुरू कर देती है। जब इस तरह की बाते पति को पता चलती है तो उसका दिल टूट जाता है और फिर वो भी इस तरह के काम करता है। जिसका नतीजा ये होता है कि वो अपने प्यार को किसी और जगह तलाशने लगते है।

पिछले कुछ सालों से इस तरह के मामले ज्यादा देखने को मिले है जिसमें मर्दों का पराई औरत से संबंध रहा है। लेकिन इस सब के पीछे जरुरी नहीं की हर बार एक मर्द ही जिम्मेदार हो कई बार औरते भी इसका कारण हो सकती है। हमारा मानना है कि समय के साथ बढ़ती महत्वकांक्षाए, रिश्तों में आपसी समझ की कमी, विश्वास की कमजोर होती डोर भी इस सब के लिये जिम्मेदार होती है।

Share