जाने योनि के ढीलेपन के कारण और आयुर्वेदीक उपाय

प्रकृति ने स्त्री व पुरुष दोनो को ही शरीर रुपी वरदान दिया है।वह अपने आप में अनुपम है।और उसके प्राकृतिक रुप में ही वह आनन्ददायक है और फिर यह बात हम अगर सेक्स अंगो के वारे में कह रहे हैं तो इस बात का महत्व और भी बढ़ जाता है।योनि स्त्री का प्रमुख सेक्स अंग है और संभोग के समय प्राकृतिक रुप से स्त्री व पुरुष को जो आनन्द प्राप्त होता है ।उसमें योनि का अपना महत्व पूर्ण योगदान है।किन्तु कई कारणों से बच्चे को जन्म देते समय या सेक्स में अधिकता से जव योनि के आकार में वृद्धि हो जाती है तब स्त्री व पुरुष के संभोगानन्द मे कमी आ जाती है।

योनि का ढीलापन या योनिशैथिल्य ( Extenuation of Vagina ) :

ईश्वर ने हर स्त्री पुरुष को उनका शरीर एक अनुपम वरदान के रूप में दिया है और अगर ये शरीर प्राकृतिक रूप में ही रहे तो इसका आनंद बढ़ जाता है और जब बात जननांगों की हो तो इसकी महत्वता और भी अधिक बढ़ जाती है. योनि स्त्रियों का मुख्य सेक्स अंग है, जब स्त्री और पुरुष संभोग क्रिया करते है तो आनंद प्राप्ति में योनि का अहम योगदान होता है. लेकिन कुछ समस्याओं, अधिक सम्भोग या बच्चे को जन्म देने के बाद योनि शिथिल पड़ जाती है जिसके बाद सम्भोग क्रिया का उतना आनंद नहीं रहता इसीलिए हर महिला अपनी योनि को टाइट रखने की पूरी कोशिश करती है और तरह तरह की दवाओं और क्रीम का इस्तेमाल करती है. किन्तु कुछ ऐसे घरेलू प्राकृतिक उपाय है जो योनि को उनके प्राकृतिक रूप में वापस लाने में सहायक होते है.

Gyan Dairy

योनि के ढीलेपन कारण (Causes of Sagging Loose Vagina):

  • शारीरिक दुर्बलता ( Physical Weakness ) : अगर महिला के शरीर में कमजोरी या दुर्बलता है तो उनकी योनि भी खुद ब खुद शिथिल होने लग जाती है और फैलना आरम्भ कर देती है.
  • अप्राकृतिक सम्भोग ( Unnatural Sex ) :  अगर कोई पुरुष अपनी साथी के साथ अप्राकृतिक तरीके से या जबरदस्ती सम्भोग करने की कोशिश करता है तो इससे योनि की दीवारों पर क्षोभ उत्पन्न होने लगता है जिससे योनि ढीली पड जाती है.
  • प्रसव ( Pregnancy ) :  प्रसव एक ऐसी क्रिया है जिसमे योनि पर अधिक दबाव पड़ता है और इसी दबाव और खिंचाव के कारण योनि फैलने लगती है और ढीली हो जाती है.
  • सेक्स आसनों का प्रयोग ( Use of Sexual Position ) :  अनेक ऐसे पुरुष होते है जो अश्लील फिल्मों को देखकर उनकी नक़ल करने की कोशिश करते है और कुछ ऐसे आसन करते है जिनके बारे में उनको कोई ज्ञान नहीं. उनकी ये अज्ञानता उनकी महिला साथी की योनि को प्रभावित करती है और उसे ढीला कर देती है.
  • योनि स्त्राव की अधिकता ( Increase in Vulva Secretion ) : अधिक सम्भोग का मतलब अधिक योनि स्त्राव और अधिक योनि स्त्राव का मतलब योनि के ढीला होने की अधिक संभावना इसलिए ज्यादा सम्भोग भी उचित नहीं होता.
  • योनि तंतुओं का ढीलापन ( Loose Vaginal Fibers ) :  देखा जाएँ तो योनि के ढीलेपन का मुख्य कारण योनि के तंतुओं का ढीलापन ही है. अगर इस रोग का समय पर उपचार ना क्या जाए तो योनि के बाहर निकलने तक का ख़तरा बना रहता है.

 

योनि का ढीलापन दूर करने के घरेलू उपाय ( Home Remedies for vaginal tightness ) :

  • आवंले पेड़ की छाल पानी में भिगोकर रखें और 24 घंटे भीगने के बाद इस पानी से योनि को धोये । इसका नियमित प्रयोग करने से योनि टाइट हो जाती है ।
  • फिटकरी, दालचीनी, जायफल बराबर मात्रा में लेकर पीसकर चूर्ण बना लें और रात को सोते वक्त योनि पर लगाकर सोये ।
  • 5 ग्राम काले तिल का पाउडर, 10 ग्राम गोखरू का चूर्ण , 20 ग्राम शहद मिलाकर 1 गिलास दूध के साथ नियमित सेवन करें ।
  • समुंद्र की झाग और हरड़ की गुटली बराबर मात्रा में लेकर पाउडर बना लें और इस पाउडर को योनि पर मसलने से योनि टाइट हो जाती है ।
  • शहद, कपूर, माजु एक साथ मिलाकर योनि की नियमित मालिश करें ।
  • पालक के बीज, गूलर के फल को शहद व् तिल के तेल के साथ पीसकर पेस्ट बनाकर योनि पर लेप करें ।
  • 3 हिस्सा फिटकरी और 1 हिस्सा माजूफल का गुदा एक साथ पीसकर किसी मुलायम कपड़े में बांधकर रात को सोते वक्त योनि पर रखें ।
  • ढाक के गोंद की बत्ती बनाकर योनि पर रखें ।
Share