लाल किले पर हुई हिंसा में 25 उपद्रवियों की पहचान, तस्वीरों में फरसा-तलवारों के साथ दिख रहे हैं आरोपी

नई दिल्ली। 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के मौके प लाल किले पर हुए उपद्रव के मामले में पुलिस ने दो दर्जन से अधिक आरोपियों की पहचान कर ली है। दिल्ली पुलिस ​की क्राइम ब्रांच ने 25 आरोपियों की पहचान लाल किले पर खींची गई तस्वीरों से की है। दिल्ली पुलिस ने 200 से अधिक वीडियो फुटेज देखने के बाद फॉरेंसिक एक्सपर्ट की मदद से इन आरोपियों की पहचान की है। इनमें तस्वीरों में दीप सिद्धू भी शामिल है।

गणतंत्र दिवस पर हुए उपद्रव के बाद दिल्ली पुलिस ने मीडिया संस्थानों से वीडियो और फोटो शेयर करने की अपील की थी। इसके साथ मीडियाकर्मियों के साथ बड़ी संख्या में आमलोगों ने भी दिल्ली पुलिस को हिंसा से जुड़े वीडियो दिए थे।

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच की एसआईटी ने फॉरेंसिक एक्सपर्ट के साथ मिलकर इन वीडियोज और तस्वीरों की जांच की। जिसके बाद 25 संदिग्ध उपद्रवियों की पहचान हो सकी। इन उपद्रवियों के खिलाफ इन तस्वीरों की मदद से आगे की कार्रवाई की जाएगी। तस्वीरों में लोग लाठी-डंडों, फरसा और तलवारों के साथ दिख रहे हैं. इससे साफ होता है कि हिंसा को किसी साजिश के तहत अंजाम दिया गया है।

Gyan Dairy

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने लाल किले पर हिंसा फैलाने और फेसबुक लाइव कर रहे दिल्ली के रहने वाले धर्मेंद्र सिंह हरमन को गिरफ्तार कर लिया है। वह अपनी कार की छत पर बैठकर लाल किले के अंदर से भीड़ को उकसा रहा था। लाल किला हिंसा में यह दूसरी गिरफ्तारी है। बता दें कि दिल्ली पुलिस ने लाल किले के गुनहगारों पर इनाम की घोषणा कर दी है। दीप सिद्धू समेत चार की गिरफ्तारी पर एक-एक लाख रुपये का इनाम घोषित किया गया है।

Share