कोरोना संकट में जब छीन रहे थे रोजगार तो अरबपतियों की संपत्ति में हुई 35 फीसदी की बढ़ोत्तरी

नई दिल्ली। ​कोरोना लॉकडाउन के दौरान देश में आर्थिक सकंट के साथ बेरोजारों की भी संख्या तेजी से बढ़ गयी थी। हालांकि, इनके बीच भीा अरबपतियों की संपत्ति में 35 फीसदी की बढ़ोत्तरी हो गयी, जो बेहद ही चौकाने वाली है। ये बातें ऑक्सफैम की रिपोर्ट में सामने आयी है। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि, ‘मार्च 2020 के बाद की अवधि में भारत में 100 अरबपतियों की संपत्ति में 12 लाख करोड़ से ज्यादा यानी 12,97,822 करोड़ रुपये की वृद्धि हुई है।

इतनी राशि का वितरण यदि देश के 13.8 करोड़ सबसे गरीब लोगों में किया जाए, तो इनमें से प्रत्येक को 94,045 रुपये दिए जा सकते हैं।’ इसके साथ ही इसमें कहा गया है कि, महामारी के दौरान मुकेश अंबानी ने एक घंटे में जितनी आमदनी कमाई है, उतनी कमाई करने में एक अकुशल मजदूर को दस हजार साल लग जाएंगे।

रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना वायरस महामारी पिछले 100 वर्षों का सबसे बड़ा स्वास्थ्य संकट है और इसके चलते 1930 की महामंदी के बाद सबसे बड़ा आर्थिक संकट पैदा हुआ। रिपोर्ट के अनुसार, 18 मार्च से 31 दिसंबर 2020 के दौरान दुनिया के 10 शीर्ष अरबपतियों की संपत्ति में 540 अरब डॉलर का इजाफा हुआ है।

Gyan Dairy

ऐसा अनुमान है कि इस दौरान कम से कम 20 करोड़ से 50 करोड़ लोग गरीब हो गए हैं। कोरोना वायरस ने दुनिया में मौजूद आय में असमानता को बढ़ा दिया है। इसका शिक्षा, स्वास्थ्य और एक बेहतर जीवन जीने के अधिकारों पर और गहरा असर होगा।

 

Share