7000 किलोमीटर उड़ान भरकर भारत की सरजमीं पर उतरे 5 राफेल, ​हुआ अभिनंदन

नई दिल्ली। आखिरकार वो पल आ ही गये जिसका भारत की सेना के साथ देश वासियों को लंबे अर्से से इंतजार था। फ्रांस से सात हजार किलोमीटर की यात्रा तय करके भारत पहुंचे पांच राफेल विमानों ने बुधवार दोपहर अंबाला एयरबेस पर लैंडिंग की। सभी लड़ाकू विमानों ने दोपहर तीन बजे के बाद एयरबेस पर टचडाउन किया। पूरा देश लंबे समय से राफेल विमानों का इंतजार कर रहा था। वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने अंबाला में विमानों की अगवानी की।

अंबाला एयरबेस पर पहुंचते ही राफेल को पानी की बौछारों से वॉटर सैल्यूट दिया गया। लड़ाकू विमानों की लैंडिंग को लेकर रक्षा मंत्रालय ने वीडियो जारी किया है। इस वीडियो में राफेल अंबाला एयरबेस की पट्टी को चूमते देखे जा सकते हैं। इस अवसर पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि पांचों राफेल विमानों की अंबाला में सुरक्षित लैंडिंग हुई।


रक्षामत्री ने कहा, ‘वायुसेना की ताकत में इससे क्रांतिकारी बढ़ोतरी होगी। सेना के इतिहास में नए युग की शुरुआत हुई है।’ रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के कार्यालय ने कहा कि भारतीय वायु क्षेत्र में प्रवेश करने के बाद राफेल विमानों को दो सुखोई 30 एमकेआई ने अपने घेरे में ले लिया। एयरबेस पर लैंडिंग के ऐतिहासिक क्षणों के बीच बुधवार को ही राफेल लड़ाकू विमानों के पहले जत्थे ने भारतीय वायु क्षेत्र में प्रवेश किया।

भारतीय वायु सीमा में जैसे ही पांचों राफेल विमानों ने प्रवेश किया, उसके बाद वायु सेना ने अपने दो सुखोई विमानों को भेजा। दोनों विमानों ने राफेल को एस्कॉर्ट किया। वायु सेना ने इन तस्वीरों को ट्वीट करते हुए लिखा कि सुखोई SU-30s ने विमानों का स्वागत किया। तस्वीरों में कुल सात विमान नजर आए, जिसमें से दो विमान सुखोई थे, जबकि अन्य पांच लड़ाकू विमान राफेल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share