मध्य प्रदेश में टूटेगा सर्दी का कहर,-3 डिग्री तक गिरेगा पारा

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में इस सर्दी के मौसम में पिछले 54 साल के सारे रिकॉर्ड टूट जाएगे। इस बार नवंबर में रात का न्यूनतम तापमान 15 से ज्यादा बार सामान्य से कम रहा है। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार इस बार भोपाल में दिसंबर माह में कड़ाके की ठंड पड़ने की संभावना जताई है। वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक जीडी मिश्रा ने बताया कि भोपाल में इस बार पारा सामान्य से 3 से 4 डिग्री नीचे जा सकता है। 1966 में भोपाल में 11 दिसंबर की रात को न्यूनतम तापमान 3.1 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया था। मौसम विभाग ने इस बार सारे रिकॉर्ड टूटने की बात कही है।

मौसम विभाग के अनुसार, पश्चिमी विक्षोभ देश के उत्तरी प्रांतों में पश्चिम से पूर्व की ओर बढ़ता है। इनसे उत्तरी भाग शीतकालीन वर्षा से प्रभावित होता है। आने वाली शुष्क ठंडी हवाएं देश के मध्यवर्ती एवं उत्तरी भाग में शीतलहर और ठिठुरन पैदा करती हैं। बंगाल की खाड़ी में पढ़ने वाले चक्रवाती तूफान की वजह से उत्तर से ठंडी हवाएं देश प्रवेश करती है। मौसम विभाग के अनुसार भोपाल में दिसंबर के महीने से सर्दी महसूस होने लगती है। यह अधिकतम शुष्क महीना रहता है। इस दौरान यहां सामान्य तापमान 15.9 डिग्री सेल्सियस से 23.4 डिग्री सेल्सियस के बीच रहता है,जबकि न्यूनतम तापमान औसतन 11.3 डिग्री सेल्सियस व दिन का अधिकतम औसत तापमान 26.4 डिग्री सेल्सियस रहता है।

 

Gyan Dairy

 

Share