अक्षय तृतीया: आज एक साथ बन रहे इतने राजयोग,ये है पूजा का शुभ मुहूर्त

नई दिल्ली। सनातन संस्कृति में अक्षय तृतीया का बहुत बड़ा महत्व बताया गया है। पुराणों के अनुसार धार्मिक रूप से विशेष महत्व रखने वाली अक्षय तृतीया वैशाख माह के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को मनाई जाती है। इस वर्ष अक्षय तृतीया तिथि 26 अप्रैल, रविवार यानी आज है। इस साल की अक्षय तृतीया कई मायनों में विशेष है। अक्षय तृतीया पर इस साल 6 राजयोग बन रहे हैं। पंचांग के अनुसार इस वर्ष अक्षय तृतीया पर रोहिणी नक्षत्र के साथ अबूझ मुहूर्त पड़ रहा है जो बेहद शुभ माना जा रहा है। आइए जानते हैं इस दिन माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए किस शुभ मुहूर्त में करें पूजा।

अक्षय तृतीया का शुभ मुहूर्त-

तृतीया तिथि प्रारंभ: 11:50 बजे (25 अप्रैल 2020)

तृतीया तिथि समापन: 13:21 बजे (26 अप्रैल 2020)

Gyan Dairy

ऐसे पूजन करने से प्रसन्न होंगी माता लक्ष्मी

अक्षय तृतीया के दिन घर के सभी स्वर्ण आभूषणों को कच्चे दूध और गंगाजल से धोने के बाद उन्हें एक लाल कपड़े पर रखकर केसर, कुमकुम से उनका पूजन करें। पूजन करते समय उन पर लाल फूल भी चढ़ाएं। ऐसा करने के बाद महालक्ष्मी के मंत्र ‘ऊं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद महालक्ष्मयै नम:” मंत्र की एक माला कमलगट्टे की माला से जाप करें। इसके बाद मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए उनकी आरती करें। शाम को इन आभूषणों को तिजोरी में रख दें।

Share