कृषि कानूनों पर भारत को मिला अमेरिका का साथ, बाइडन प्रशासन बोला- इससे दुनिया में बढ़ेगा भारत का प्रभाव

नई दिल्ली। तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली बार्डर पर किसान बीते दो माह से अधिक समय से धरने पर हैं। अब अमेरिका ने इन कृषि कानूनों को लेकर भारत का खुलकर समर्थन किया है। अमेरिका के नए राष्ट्रपति जो बाइडन के प्रशासन ने कहा कि वह मोदी सरकार के इन कानूनों का खुलकर समर्थन करते हैं। अमेरिका ने कहा है कि इन कानूनों से दुनिया में भारतीय बाजार का प्रभाव और बढ़ेगा। इसके साथ ही इन कानूनों से निजी क्षेत्र में निवेश और बढ़ेगा। अमेरिका ने साफ ​कहा कि कृषि कानूनों का शांतिपूर्ण विरोध एक संपन्न लोकतंत्र की निशानी है।

अमेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता ने कहा कि जो बाइडन प्रशासन कृषि क्षेत्र में सुधार के लिए भारत सरकार के कदम का समर्थन करती है। ये कृषि कानून किसानों के लिए निजी निवेश और अधिक बाजार पहुंच को बढ़ावा देंगे। अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने आगे कहा कि सामान्य तौर पर अमेरिका ऐसे कदमों का स्वागत करता है, जो भारतीय बाजारों की दक्षता में सुधार करेंगे और निजी क्षेत्र के निवेश को आकर्षित करेंगे।

Gyan Dairy

अमेरिका के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा, हमारा मानना है कि शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन किसी भी संपन्न लोकतंत्र की पहचान है और भारत के सर्वोच्च न्यायालय ने भी यही कहा है। प्रवक्ता ने कहा कि अमेरिका, भारत के अंदर बातचीत के माध्यम से पार्टियों के बीच किसी भी मतभेद को हल किया जाने के पक्ष में है। सामान्य तौर पर अमेरिका भारतीय बाजारों की कार्यकुशलता को सुधारने और बड़े पैमाने पर निजी सेक्टर के निवेश को आकर्षित करने के लिए उठाए गए कदमों का स्वागत करता है।

Share