ड्रोन हमले पर सेना प्रमुख एमएम नरवणे बोले- हम हर खतरे से निपटने की क्षमता विकसित कर रहे हैं

नई दिल्ली। देश के थलसेना अध्यक्ष जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने जम्मू कश्मीर में हुए ड्रोन हमलों पर कहा कि ड्रोन की आसान उपलब्धता ने सुरक्षा चुनौतियों को बढ़ा दिया है। थलसेना प्रमुख ने गुरुवार को कहा कि भारतीय सेना इस तरह के खतरों से प्रभावी तरीके से निपटने के लिए क्षमता विकसित कर रही है। थलसेना अध्यक्ष ने साफ कहा कि ‘हम उस खतरे से निपटने के लिए क्षमता विकसित कर रहे हैं।

थलसेना अध्यक्ष एमएम नरवणे ने एक थिंक टैंक को संबोधित करते हुए कहा कि सुरक्षा प्रतिष्ठान चुनौतियों से पूरी तरह अवगत हैं। इनसे निपटने के लिए कुछ कदम पहले ही उठाए जा चुके हैं। थलसेना प्रमुख का बयान जम्मू में एयरपोर्ट के पास आतंकियों ने वायु सेना स्टेशन में ड्रोन हमले के बाद आया है। इसके अलावा जम्मू और सांबा के कुछ सैन्य ठिकानों के आसपास भी ड्रोन देखे गए हैं।

Gyan Dairy

सेना प्रमुख ने साफ कहा कि ”हम खतरों से निपटने के लिए क्षमताएं विकसित कर रहे हैं, भले ही वे खतरे देश प्रायोजित हो या खुद देशों ने पैदा किए हो। हम ड्रोन के खतरों से निपटने की तैयार कर रहे हैं।’ जनरल नरवणे से हाल में जम्मू में हुए ड्रोन हमले को लेकर सवाल किया गया था।’सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे ने कहा है कि भारत और पाकिस्तान के बीच संघर्ष विराम समझौता होने के बाद नियंत्रण रेखा पर घुसपैठ नहीं हुई है। घुसपैठ न होने से कश्मीर में आतंकवादियों की संख्या कम है।

Share