राष्ट्रपति भवन छोड़ने के बाद प्रणब मुखर्जी का बुरी आदत प्रकट किया गया है

भारत के तेरहवें राष्ट्रपति प्रणब मुख़र्जी का कार्यकाल आज समाप्त हो रहा है. अपने बिदाई समारोह में उन्होंने अपने आप को भारत की संसद की ही उत्पत्ति बताया. प्रणब मुख़र्जी के बाद, नवनिर्वाचित पूर्व बिहार राज्यपाल, रामनाथ कोविंद भारत के राष्ट्रपति बनेंगे.

दरअसल, राष्ट्रपति प्रणब मुख़र्जी के बारे में एक दिलचस्प खबर सामने आई है.प्रणब मुख़र्जी अपनी स्मोकिंग की आदत को लेकर राजनेताओं और राष्ट्राध्यक्षों के बीच काफी प्रसिद्द थे.उनकी इसी आदत के कारण जब भी कोई उनसे मिलने आता था, तो एक स्मोकिंग पाइप भेंट स्वरुप भी लेकर आता था.

वे भारत के 14वें राष्ट्रपति होंगे. रामनाथ कोविंद NDA के राष्ट्रपति उम्मीदवार थे l उन्होंने विपक्ष की उम्मीदवार मीरा कुमार को हराकर राष्ट्रपति पद सुनिश्चित किया था. प्रणब मुख़र्जी की बात की जाए तो उनके बारे में एक दिलचस्प खुलासा सामने आया है. यह खुलासा उनकी सालों पुरानी एक बुरी आदत से जुड़ा हुआ है.

अब जब वो राष्ट्रपति भवन से विदा ले रहे है तो उनके बारे में दिलचस्प बातें सामने आ रही है. स्मोकिंग पाइप के प्रति उनके इस लगाव को देखते हुए देश-विदेश की गणमान्य हस्तियों ने उन्हें 500 से ज्यादा पाइप भेंट की है .

Gyan Dairy

स्वास्थय कारणों से उन्हें धूम्रपान छोड़ने को कहा गया था. यही वजह है की वो अब निकोटीन रहित स्मोकिंग पाइप का इस्तेमाल करते है. जयंत घोषाल की माने तो प्रणब को सबसे पहला पाइप असम के वरिष्ठ कांग्रेसी नेता देबकांत बरुआ ने भेंट की थी.

प्रणब मुख़र्जी ने इन पाइपों को राष्ट्रपति भवन संग्रहालय को दान कर दिया है. उनके मित्र ने यह जानकारी दी है. उन्होंने बताया की धूम्रपान छोड़ने के बाद भी प्रणब दा का स्मोकिंग पाइप के प्रति लगाव कम नही हुआ था.जयंत घोषाल, प्रणब दा को 1985 से जानते है.

प्रणब मुख़र्जी का नया पता अब दिल्ली का 10, राजाजी मार्ग होगा. यह बंगला पूर्व राष्ट्रपति दिवंगत ए पी जे अब्दुल कलाम का भी था.प्रणब मुख़र्जी की आदतों को ध्यान में रखते हुए ही 10, राजाजी मार्ग में विशेष तौर पर एक पुस्तकालय और अध्ययन कक्ष की भी व्यवस्था की जा रही है.यह दो मंजिला बंगला 10,776 वर्ग फीट में फैला हुआ है.

Share