हेल्थ इंश्योरेंस पाॅलिसी लेने से पहले ध्यान रखें ये पांच बातें,जानें इसके फायदे

नई दिल्ली। जब हम हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी लेने के लिए जाते है। तो हमारे मन में कई तरह के सवाल होते है। जैसे इस पाॅलिसी के लिए हम ज्यादा पैसा तो नहीं दे रहे हैं। या इसका रिस्क कवर कितना होगा। हमें कब हेल्थ पाॅलिसी खरीदनी चाहिए, जिससे हमें ज्यादा फायदा हो सके। इन तरीकों को अपनाकर आप एक बेहतरीन हेल्थ पाॅलिसी चुनकर ना सिर्फ आप अपना पैसा बचा सकते हैं बल्कि वह आपके लिए बहुत फायदेमंद भी साबित हो। हेल्थ इंश्योरेंस खरीदने की सबसे सही उम्र 28 से 30 साल के बीच की है। अगर इस समय उम्र में कोई व्यक्ति इंश्योरेंस पाॅलिसी खरीदता है तो उसका प्रीमियम भी कम आएगा और उसे फायदा भी ज्यादा होगा।

पाॅलिसी बाजार डाॅट काम के चीफ बिजनेस ऑफिसर संतोष अग्रवाल के अनुसार, जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है वैसे इंश्योरेंस पॉलिसी के फायदे सीमित होते जाते हैं। इसलिए अपनी कमाई शुरू करते ही जरुरी है कि इंश्योरेंस करावा लिया जाए। इसके साथ ही एक इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदने की बजाए टर्म अधारित इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदने के अपने फायदे हैं। एक तो बहुत बड़ी रकम के लिए आप बहुत छोटी कीमत देते हैं। जबकि इसका रिस्क कवर भी अच्छा होता है। अगर आप गंभीर बीमारियों या मृत्यु के लिए कवरेज बढ़ा सकते हैं। आज के समय में 40 साल का भी इंश्योरेंस पॉलिसी उपलब्ध है। लेकिन व्यवहारिक तौर पर मनुष्य की औसत रिटायरमेंट आयु 60 से 65 वर्ष है।

ऐसे में आप 40 वर्ष के हैं तो आप 20 साल का ही इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदें। ताकि रिटायरमेंट के वक्त आपको इसका फायदा मिल सके। पाॅलिसी एक्स डाॅट काम के सीईओ नवल के अनुसार, आपकी बीमा पाॅलिसी का समय बहुत ज्यादा भी नहीं होना चाहिए ना ही बहुत कम। दोनों स्थितियों में आपका नुकसान हो सकता है। आप अपनी इंश्योरेंस पॉलिसी को प्रीमियम के आधार पर, सुविधा के आधार पर अन्य कंपनियों की पाॅलिसी तुलना जरूर कर लें। इसके अलावा क्लेम सेटेलमेंट भी चेक करना जरूरी है। जब हम इंश्योरेंस पाॅलिसी खरीदते हैं उसके साथ ढेर सारे राइडर्स भी उपलब्ध रहते हैं। गोयल के अनुसारए श्सभी राइडर्स के फाइन प्रिंट की जांच करना न भूलेंए क्योंकि वो अलग-अलग इंश्योरेंस कंपनियों के लिए अलग हो सकते हैं।

Gyan Dairy

 

Share