बंगाल चुनाव: ममता बनर्जी ने चुनाव आयोग से की कोविड सर्टिफिकेट से पीएम मोदी का फोटो हटाने की अपील

कोलकाता: बंगाल की सीएम लगातार पीएम मोदी पर हमलावर रहती हैं। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की अगुवाई वाली तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) ने चुनाव आयोग को पत्र लिखकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की डिजिटल कोविड-19 टीकाकरण प्रमाणपत्र पर इस्तेमाल की जा रही तस्वीर को ‘पब्लिसिटी स्टंट’ करार दिया और इसका आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन बताया।

पश्चिम बंगाल में आठ चरण को होने वाले विधानसभा चुनाव 27 मार्च से शुरू हो रहे हैं। राज्य में चुनाव की तारीखों की घोषणा पिछले सप्ताह की गई थी, जिसके बाद प्रदेश में आदर्श आचार संहिता लागू हो गई है।

“प्रचार का पैंतरा”
टीएमसी राज्यसभा सांसद और पूर्व भारतीय मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के प्रमुख संतनु सेन ने इस अधिनियम को “प्रचार स्टंट” करार दिया और यह भी सवाल उठाया कि टीका लेते समय प्रधानमंत्री ने मास्क क्यों नहीं पहना था। सेन ने यह भी कहा कि टीकाकरण के लिए किसी भी प्रमाण पत्र में प्रधानमंत्री की तस्वीर नहीं थीं।

भारत ने 1 मार्च को कोरोना वायरस के खिलाफ दुनिया के सबसे बड़े इनोक्यूलेशन ड्राइव का दूसरा चरण शुरू किया, जिसमें 60 वर्ष से अधिक उम्र के सभी वरिष्ठ नागरिकों और 45 साल तक गंभीर बीमारी वालों को टीकाकरण किया गया शुरू हुआ। प्रधानमंत्री मोदी ने एम्स, नई दिल्ली में COVAXIN की अपनी पहली खुराक प्राप्त करके इस अभियान की शुरुआत की।

Gyan Dairy

पश्चिम बंगाल में 294 सीटें के लिए लोग 1,01,916 मतदान केंद्रों पर वोट डाल सकेंगे। चरणों के अनुसार, मतदान 27 मार्च, 1 अप्रैल, 6 अप्रैल, 10 अप्रैल, 17 अप्रैल, 22 अप्रैल, 26 अप्रैल और 29 अप्रैल को आयोजित किया जाएगा। मतगणना 2 मई को होगी।

 

Share