blog

आईटी सेक्टर में रोजगार संकट के बीच एसोचैम ने कहा इन सेक्टर्स में हैं नौकरियां

Spread the love

देश में आईटी और टेलीकॉम सेक्टर में लगातार कम होती नौकरियों के बीच एसोचैम की रिपोर्ट ने कुछ राहत भरी खबर दी है। रिपोर्ट के अनुसार भारत में हर साल 2 करोड़ नौ‍करियों की जरूरत है। रिपोर्ट की माने तो भविष्य में भारत में कांट्रक्‍शन, रियल स्‍टेट, ब्‍यूटी एंड वेलनेस, आर्गनाइज रिटेल से लेकर ट्रांसपोर्ट और लॉजिस्टिक सेक्‍टर अच्छी नौकरियां देने में सक्षम हैं।

रिपोर्ट कहती है कि बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन एंड रियल एस्‍टेट (इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर शामिल) में 2013 में 4.54 करोड़ लोग काम कर रहे थे। भविष्य में इस सेक्‍टर में 3.11 करोड़ लोगों को रोजगार देने की क्षमता है।

रिपोर्ट में कहा है कि आईटी सेक्टर फिलहाल दबाव में चल रहा है जिस कारण वह अधिक नौकरियां पैदा नहीं कर सकता। रिपोर्ट के अनुसार अगले 5 साल में अधिक से अधिक 10 लाख जॉब्‍स आने की संभावना है।

टेलीकॉम सेक्टर में जा रही नौकरियों की बात किसी और ने नहीं बल्कि खुद टेलीकॉम कंपनी आरकॉम के मालिक अनिल अंबानी ने कही है। अम्बानी ने कहा कहा, जिओ के आने के बाद फ्री डेटा और वॉयस टैरिफ की प्रतिस्पर्धा से टेलीकॉम कंपनियों को बड़ा नुकसान हुआ है।

मनमोहन सिंह काल के आखिरी सबसे खराब दो सालों यानी 2012 और 2013 में कुल 7.41 लाख नए रोजगार सृजित हुए पर मोदी राज के दो सालों 2015 और 16 में कुल 3.86 लाख रोजगार सृजित हुए हैं।

अनिल अम्बानी ने कहा कि पिछले साल टेलीकॉम सेक्टर ने 10,000 नौकरियों को ख़त्म किया जबकि इस वर्ष कम से कम 40,000 ख़त्म होने की संभावना है।

You might also like