दिल्ली हाईकोर्ट की बड़ी टिप्पणी, कहा-निजता प्रभावित हो रही है तो डिलीट कर दें व्हाट्सएप

नई दिल्ली। दिल्ली हाईकोर्ट ने सोशल नेटवर्किंग ऐप व्हाट्सएप की नई प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर सोमवार को सुनवाई की। सुनवाई के दौरान हाईकोर्ट ने साफतौर पर कहा कि अगर व्हाट्सएप से आपकी निजता प्रभावित हो रही है तो आप इसे डिलीट कर दीजिए।
याचिकाकर्ता ने कहा था कि व्हाट्सएप की नई प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर सरकार को एक्शन लेना चाहिए। ये आम नागरिक की निजता का उल्लंघन है। व्हाट्सएप जैसा प्राइवेट एप आम लोगों से जुड़ी व्यक्तिगत जानकारियों को साझा करना चाहता है। लिहाजा इस पर रोक लगाने की जरूरत है।

याचिका पर सुनवाई करते हुए दिल्ली उच्च न्यायालय ने कहा कि यह एक प्राइवेट एप है। अगर इससे निजता प्रभावित हो रही है तो आप व्हाट्सएप को डिलीट कर दीजिए। हाईकोर्ट ने कहा कि क्या आप मैप या ब्राउजर इस्तेमाल करते है तो उसमें भी आपका डाटा शेयर किया जाता है।

Gyan Dairy

व्हाट्सएप की प्राइवेसी नीति को लागू करने के खिलाफ एक वकील ने दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका लगाई है। याचिका में कहा गया है कि ये संविधान द्वारा दिए गए मौलिक अधिकार के खिलाफ है। इसलिए हम इस मामले में चाहते हैं कि कड़ा कानून बने। हाईकोर्ट में व्हाट्सएप की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता मुकुल रोहतगी ने दलील देते हुए कहा कि इसका इस्तेमाल पूरी तरह से सुरक्षित है।

Share