बिहार: LJP के अध्यक्ष पद से हटाए गए चिराग, चाचा पशुपति ने सूरजभान को बनाया कार्यकारी मुखिया

पटना। लोक जनशक्ति पार्टी के संस्थापक रहे स्वर्गीय रामबिलास पासवान के बेटे और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान को उनके पद से हटा दिया गया है। एलजेपी संसदीय दल के नेता पशुपति कुमार पारस के आवास पर आज हुई पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में सर्वसम्मति से चिराग पासवान को राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से हटाने का फैसला लिया गया। चिराग के स्थान पर सूरजभान सिंह को एलजेपी का राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त किया गया। राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष ने पांच दिन के अंदर राष्ट्रीय परिषद की बैठक बुलाई है।

बता दें कि इससे पहले चिराग पासवान सोमवार को अपने चाचा पशुपति कुमार पारस के घर पहुंचे थे। हालांकि गेट पर चिराग को 20 मिनट तक इंतजार कराया गया बल्कि डेढ़ घंटा इंतजार के बाद भी चाचा से मुलाकात नहीं हो सकी। पशुपति कुमार पारस को चिराग को छोड़कर पार्टी के सभी पांच सांसदों का समर्थन होने के चलते अपना पक्ष मजबूत लग रहा है। चिराग के चचेरे भाई प्रिंस राज भी फिलहाल चाचा पारस के साथ हैं। ऐसे में चिराग पार्टी में बिल्‍कुल अकेले पड़ गए हैं।

इसके पहले रविवार की देर शाम पार्टी के पांच सांसदों ने पशुपति कुमार पारस को अपना नेता चुन लिया था। पारस खुद हाजीपुर के सांसद हैं। इसके अलावा उनके साथ चिराग को छोड़कर चौधरी महबूब अली कैशर, वीणा सिंह, सूरजभान के भाई सांसद चंदन सिंह और रामचन्द्र पासवान के पुत्र प्रिंस राज हैं। पारस के भतीजे प्रिंस बिहार लोजपा के अध्यक्ष भी हैं। सभी सांसदों ने पारस को नेता चुनने के बाद रविवार की रात में लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला को इसका पत्र सौंप दिया था। उसके बाद सोमवार को अध्यक्ष ने उन्हें मान्यता दे दी। इसकी जानकारी अध्यक्ष ने पारस के साथ सांसदों को बुलाकर दे दी। सोमवार को भी सभी पांच सांसद वीणा देवी के दिल्ली आवास पर बैठक करते रहे।

Gyan Dairy

 

Share