UA-128663252-1

बिहार: रामविलास पासवान की अंतिम यात्रा में उमड़ा जनसैलाब, कुछ देर में बेटे चिराग देंगे मुखाग्नि

नई दिल्ली। बिहार के दिग्गज नेता पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) के संस्थापक रामविलास पासवान का लम्बी बीमारी के बाद निधन हो गया था। आज शनिवार को पूरे राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार राजधानी पटना के दीघा स्थित जर्नादन घाट पर होगा। शनिवार सुबह आठ बजे से ही उनके पटना के श्रीकृष्णपुरी स्थित उनके निजी आवास पर अपने लोकप्रिय नेता के अंतिम दर्शन को लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। खगडि़या जिले के शहरबन्‍नी स्थित उनके पैतृक गांव से पहली पत्नी राजकुमारी देवी भी पटना आवास पहुंची। पति के निधन से उनके आंसू थम नहीं रहे। गुरुवार की रात से शुक्रवार शाम तक रामविलास पासवान के पैतृक आवास पर लोग जुटे रहे।

आज सुबह से पटना स्थित आवास पर विभिन्‍न राजनीतिक दलों के बड़े नेता, कार्यकर्ता और बड़ी संख्‍या में आम जनों की भीड़ जुटी रही। हर कोई राम विलास पासवान की सद्भावपूर्ण राजनीति, संघर्ष, व्‍यक्तिगत मधुर संबंधों की बातें करते रहे। बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्‍तेश्‍वर पांडे्य, पूर्व केंद्रीय मंत्री व रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा, सांसद रमा देवी, जदयू नेता आरसीपी सिंह, जदयू प्रवक्‍ता अजय आलोक , पूर्व मुख्‍यमंत्री व हम प्रमुख जीतन राम मांझी , पूर्व मंत्री रेणु कुशवाहा बीजेपी सांसद राम कृपाल यादव सहित कई नेताओं ने उनके आवास पर पहुंचकर श्रद्धांजलि अर्पित की।

दोपहर करीब सवा एक बजे फूलों से सजी गाड़ी पर भारी भीड़ के साथ पूर्व केंद्रीय मंत्री व लोजपा के संस्‍थापक राम विलास पासवान की अंतिम यात्रा पटना स्‍ि‍थत आवास से निकली। अंतिम यात्रा में जगह-जगह से लोग जुड़ते जा रहे। रामविलास पासवान अमर रहें के नारे से गूंजा वातावरण। राम विलास पासवान के पुत्र चिराग पासवान गुमसुम हैं। जाहिर है पिता की मौत से वे बेहद दुखी हैं। ऐन विधान सभा चुनाव के पहले पिता की मौत से वे विचलित हैं। केंद्र सरकार के प्रतिनिधि के रूप में केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद अंतिम यात्रा में शामिल हैं। उन्‍होंने कहा कि हम सब राम विलास पासवान जी के निधन पर बेहद दुखी हैं। बोलने के लिए शब्‍द नहीं है। परिवार के लोगों से भी मैं मिला। सांत्‍वना दी। मगर उनके लिए यह अपूरणीय क्षति है।

Gyan Dairy

इसके पहले उनका पार्थिव शरीर वायुसेना के विशेष विमान से शुक्रवार की शाम साढ़े सात बजे दिल्ली से पटना लाया गया। पटना एयरपोर्ट पर श्रद्धांजलि देते वक्‍त चिराग पासवान फूट-फूटकर रो पड़े। वहां मौजूद सभी की आंखें नम हाे गई। स्‍टेट हैंगर में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी श्रद्धांजलि देते वक्‍त खुद की भावनाओं को काबू न कर सके और उनकी आंखें छलक गईं। वहां केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय, डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी एवं नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी। इसके बाद पासवान के पार्थिव शरीर को अंतिम दर्शन के लिए लोजपा कार्यालय में रखा गया ।

Share