बिहार सियासत: BJP विधायक को फोन करने के मामले में घिरे लालू यादव, जांच के आदेश

नई दिल्ली। चारा घोटाले में सजा काट रहे राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव जेल से बीजेपी विधायक ललन पासवान को फोन करके नीतीश सरकार गिराने की साजिश करने के मामले में घिर गए हैं। अब झारखंड के जेल महानिरीक्षक वीरेंद्र भूषण ने रांची के रिम्स अस्पताल में भर्ती राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव द्वारा बिहार के पीरपैंती क्षेत्र से भाजपा विधायक ललन पासवान को फोन करने के मामले में जांच के आदेश दिए हैं।

इस कथित बातचीत में लालू यादव ललन पासवान को बुधवार को विधानसभा अध्यक्ष के चुनाव के दौरान अनुपस्थित रहने के लिए मंत्री पद का लालच देते हैं। अनुपस्थित होने के लिए लालू पासवान को कोरोना वायरस संक्रमित होने का बहाना बनाने की बात भी कहते सुनाई देते हैं।
झारखंड के जेल महानिरीक्षक वीरेन्द्र भूषण ने बताया कि इस मामले में उन्होंने रांची स्थित बिरसा मुंडा केन्द्रीय कारागार के अधीक्षक और रांची के उपायुक्त एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को जांच के आदेश दिए हैं। उन्होंने कहा कि मामले की जांच रिपोर्ट आने के बाद नियमसंगत कार्रवाई की जाएगी।

Gyan Dairy

बता दें कि हिरासत में फोन या मोबाइल का उपयोग अवैध है। ऐसे में यदि यह मामला सच साबित होता है तो पहले यह पता लगाया जाएगा कि मोबाइल फोन लालू प्रसाद के पास पहुंचा कैसे और इसके लिए कौन दोषी है? उन्होंने कहा कि न्यायिक हिरासत से किसी भी तरह की राजनीतिक बातचीत जेल नियमावली का उल्लंघन है। ऐसे में इस ऑडियो के सही साबित होने पर जेल नियमावली के अनेक प्रावधानों के तहत कार्रवाई संभव है।

Share