blog

मिलिए इस DM से जो हर साल, 50 गरीब युवाओं को मुफ्त कोचिंग देकर बना देते हैं IAS

Spread the love

कहावत है कि सफलता हाथ लगने के बाद आदमी के पांव जमीं पर नहीं टिकते लेकिन इस बात को गलत साबित करते हैं  सीनियर आईएएस रणजीत सिंह। रणजीत एक ऐसा काम भी करते हैं जिसे जानकर आपको गर्व जरुर महसूस होगा।  गुजरात जैसे राज्य में डीएम पद संभालने के बाद भी रणजीत हर साल मिशन 50 के जरिए  50 युवाओं को मुफ्त कोचिंग देकर आईएएस भी बनाते हैं।

रणजीत गरीब परिवार से होने के कारण उन्होंने पैसों की कमी को बखूबी देखा था। लेकिन उनकी मेहनत और लग्न के कारण उन्होंने कभी हार नहीं माना। जिसका परिणाम आज सामने है कि बिहार जैसे सुदूर देहात के रहने वाले रणजीत गुजरात में डीएम हैं।

रणजीत कुमार सिंह पुरानी यादों को यादकर बताते हैं कि जब में पांचवी क्लास में था तब हमारे गांव में बाढ़ आयी थी। हमें इस परेशानी से निकालने वाला कोई नहीं था सभी लोग डीएम खोज रहे थे। तभी मेरे दादा जी ने मुझसे कहा कि बनना है तो डीएम बनकर दिखाओ।

भारत सरकार से स्वच्छता के लिए पुरस्कृत हो चुके डीएम रणजीत का कहना है कि छुट्टियों के समय ज्यादातर समय वो बच्चों को पढ़ाने में ही देते हैं। हर साल कई आईएएस बनकर निकलने वाले  बच्चों का जब रिजल्ट आता है तो लगता है कि मेरा ही रिजल्ट आया है।

उन्होंने कहा कि बिहार में भी रहकर सिविल सेवा की तैयार की जा सकती है। मैं खुद बिहार में ही रहकर सफल हुआ। डॉ. रंजीत कुमार सिंह ने 2008 में सिविल सेवा की परीक्षा पास की। वर्तमान में वे गुजरात के नर्मदा जिले में जिलाधिकारी के पद पर तैनात हैं और गरीब बच्चों को निशुल्क शिक्षा देकर देश का नाम रोशन कर रहे हैं।

You might also like