ब्रिटिश को, भारत में पेट्रोल पंप लगाने के लिए लाइसेंस जारी कर दिया…

सरकार ने देश में 3,500 पेट्रोल पंप स्थापित करने के लिये यूरोप की तीसरी सबसे बड़ी तेल कंपनी बीपी पीएलसी को औपचारिक रूप से लाइसेंस दिया है। यह 10वीं कंपनी है जो देश में आकर्षक ईंधन के खुदरा कारोबार में कदम रखेगी। बीपी ने टिवटर पर लिखा है कि कंपनी को पेट्रोल और डीजल (हाई स्पीड डीजल) के विपणन के लिये 14 अक्तूबर को औपचारिक लाइसेंस मिल गया। कंपनी के लिये यह एक और मील का पत्थर है।

A man refuels a vehicle at a Bharat Petroleum Corp. gas station in New Delhi, India, on Sunday, May 20, 2012. Bharat Petroleum Corp. is the best-performing energy stock on the MSCI AC Asia Pacific Index this year and analysts say its foray into exploration in Africa to counter refining losses may mean there's more growth to come. Photographer: Prashanth Vishwanathan/Bloomberg via Getty Images

 ब्रिटेन की कंपनी के साथ हल्दिया पेट्रोकेमिकल्स लि़ को पेट्रोलियम मंत्रालय ने खुदरा पेट्रोल और डीजल के लिये लाइसेंस दिया है। इससे पहले कंपनी को भारत में एयरलाइंस को विमान ईंधन (एटीएफ) के खुदरा विपणन के लिये सैद्धांतिक मंजूरी मिली थी। देश में फिलहाल 56,190 पेट्रोल पंप है जिसमें सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी की बहुलांश हिस्सेदारी है। निजी क्षेत्र की एस्सार ऑयल और रिलायंस इंडस्ट्रीज के पास 3,500 पेट्रोल पंप हैं। रायल डच शेल 82 पेट्रोल स्टेशनों का परिचालन कर रही है।

Gyan Dairy

bn-fb724_1018in_p_20141018123129

नुमालीगढ़ रिफाइनरीज लि़ तथा मैंगलोर रिफाइनरीज एंड पेट्रोकेमिकल्स लि़ के छह पेट्रोल पंप हैं। वहीं दूसरी तरफ इंडियन ऑयल कारपोरेशन (आईओसी) के पास 25,363 पेट्रोल पंप, हिंदुस्तान पेट्रोलियम कारपोरेशन लि़ (एचपीसीएल) के पास 13,802 स्टेशन तथा भारत पेट्रोलियम कारपोरेशन लि़ (बीपीसीएल) के पास 13,439 बिक्री केंद्र हैं। कोलकाता स्थित हल्दिया पेट्रोकेमिकल्स लि़ को 100 पेट्रोल पंप स्थापित करने का लाइसेंस मिला है। ये पेट्रोलपंप मुख्य रूप से पश्चिम बंगाल में लगाये जाएंगे।

Share