बजट 2021: नई वाहन कबाड़ नीति की घोषणा, अब 20 साल तक चला पाएंगे निजी वाहन

नई दिल्ली। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज लोकसभा में देश का आम बजट पेश किया है। हाल ही में केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने नई वाहन कबाड़ नीति को मंजूरी प्रदान की थी। इसके साथ ही पुराने वाहनों को कबाड़ में देने के बदले नए वाहन खरीदने के लिए भी सरकार प्रोत्साहन राशि देगी।

केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आम बजट 2021-22 में बहुप्रतीक्षित वाहन कबाड़ नीति (व्हीकल स्क्रैप पॉलिसी) की घोषणा करते हुए बताया कि 15 साल पुराने वाणिज्यिक वाहनों (कमर्शियल व्हीकल) को स्क्रैप किया जाएगा। वहीं निजी वाहन 20 साल बाद स्क्रैप किये जा सकेंगे। पहले 15 साल पुराने निजी वाहनों को सड़कों से हटा दिया जाता था। पुरानी गाड़ियां बहुत प्रदूषण फैलाती हैं।

बढ़ते वायु प्रदूषण को नियंत्रित करने की दिशा में सरकार ने यह कदम उठाया है। इससे ईंधन-दक्ष, पर्यावरण अनुकून वाहनों को प्रोत्साहित करने, प्रदूषण को कम करने और तेल आयात बिल को कम करने में मदद मिलेगी। इसके साथ ही आटोमेटेड फिटनेस सेंटर बनाए जाएंगे जहां इन वाहनों को ले जाना होगा। निजी वाहनों को 20 साल बाद और कमर्शियल वाहनों को 15 साल बाद इन ऑटोमेटेड फिटनेस सेंटर पर ले जाना होगा। इस योजना का पूरा ब्यौरा मंत्रालय द्वारा अलग से जारी किया जाएगा।

Gyan Dairy

बता दें कि केन्द्र की मोदी सरकार सरकार पिछले कुछ दिनों से वाहन कबाड़ नीति पर काम कर रही थी। कुछ दिनों पहले ही सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने नई वाहन कबाड़ नीति को मंजूरी दी है। साथ ही पुराने वाहनों को कबाड़ में देने के बदले नए वाहन खरीदने के लिए सरकार प्रोत्साहन राशि भी देगी।

Share