बजट 2021: पीएम मोदी बोले-इस बजट में गांव और किसान है

नई दिल्ली। केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने आज 2021—22 के लिए बजट पेश किया। वहीं, इस बजट पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। पीएम ने इस बजट को समावेशी विकास पर जोर देने वाला बताया है। उन्होंने कहा कि यह बजट आत्मविश्वास को उजागर करने वाला बजट है। वर्ष 2021 का बजट असाधारण परिस्थितियों के बीच पेश किया गया है।

इसमें यथार्थ का एहसास भी और विकास का विश्वास भी है। पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना के चलते कई एक्सपर्ट ये मानकर चल रहे थे कि सरकार आम नागरिकों पर बोझ बढ़ाएगी। लेकिन Fiscal sustainability के प्रति अपने दायित्वों को ध्यान में रखते हुए सरकार ने बजट का साइज बढ़ाने पर जोर दिया।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज के बजट में आत्मनिर्भरता का विजन भी है और हर वर्ग का समावेश भी है। हम इस में जिन सिद्धांतों को लेकर चले हैं वो हैं- ग्रोथ के लिए नई संभावनाओं का विस्तार करना, युवाओं के​ लिए नए अवसरों का निर्माण करना, मानव संसाधन को एक नया आयाम देना है।

उन्होंने कहा कि ऐसे बजट कम ही देखने को मिलते हैं जिसमें शुरू के एक-दो घंटों में ही इतने सकारात्मक रिस्पांस आए। गौरतलब है कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को संसद में बजट पेश किया। इसमें सरकार ने देश में आर्थिक वृद्धि को गति देने के लिए वित्त वर्ष 2021-22 में पूंजीगत खर्च को 34.5 प्रतिशत बढ़ाकर 5.5 लाख करोड़ रुपये करने का प्रस्ताव किया है।

Gyan Dairy

सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों तथा वित्तीय संस्थानों में हिस्सेदारी बिक्री से वित्त वर्ष 2021-22 में 1.75 लाख करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य रखा गया है। इसके साथ ही कोरोना के टीकाकरण अभियान के लिए 35,000 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है।

 

Share