अफसरों के उड़े होश, GDA से कैग टीम ने मांगा जमीन अधिग्रहण का हिसाब-किताब

कैग टीम ने  अप्रैल 2010 से मार्च 2017 तक जीडीए द्वारा कहां-कहां कितनी जमीन का अधिग्रहण किया गया और उसके लिए किस पॉलिसी या शासनादेश का पालन हुआ, जीडीए से इसकी पूरी रिपोर्ट तलब कर ली है। टीम की डिमांड पर जीडीए के अधिग्रहण अनुभाग से संबंधित अफसर ब्योरा एकत्र करने में जुट गए हैं। वहीं कैग टीम ने रविवार के बाद सोमवार को भी अवकाश होने के बावजूद जीडीए कार्यालय पहुंचकर फाइलों का ऑडिट किया।

जीडीए के कामकाज व लेन-देन की जांच कर रही कैग टीम एक-एक करके जीडीए के अनुभागों को टारगेट पर ले रही है। इस कड़ी में कैग टीम ने सबसे पहले जीडीए के इंजीनियरिंग अनुभाग को निशाने पर लिया। इसके बाद प्रवर्तन, उद्यान और प्रॉपर्टी अनुभाग टीम की नजर में चढ़ा। अब टीम ने जीडीए द्वारा की गई अधिग्रहण की कार्रवाई का पूरा ब्योरा तलब कर लिया है। पुराने और नए अधिग्रहण कानून की बुकलेट के साथ टीम ने अधिग्रहण से संबंधित जारी हुए सभी शासनदेश और अधिग्रहण की गई जमीन की एक-एक फाइल मांगी है। जीडीए तहसीलदार राजकुमार मित्तल ने बताया कि कैग टीम की डिमांड पर कुछ ब्योरा उपलब्ध करा दिया गया है। बाकी ब्योरा भी एकत्र किया जा रहा है। जल्द ही पूरी डिटेल कैग टीम को सौंप दी जाएगी।

Gyan Dairy
Share