सबसे बड़ा ख़ुलासा : कांग्रेस ने अम्बानी को 1, 13000 और अडानी को 72,000 करोड़ रुपए दिए थे

राहुल गांधी ने सहारा डायरी दिखाकर मोदी पर इल्ज़ाम लगाया था कि उन्होंने रिश्वत ली है, समय समय पर राहुल गांधी और केजरीवाल ये भी कहते रहते हैं ये मोदी सरकार नहीं बल्कि अडानी-अम्बानी की सरकार है, और इस तरह के फ़ोटो, क्वोट बनाकर सोशल मीडिया पर भी डालते रहते हैं जिससे ये सिद्ध किया जा सके कि मोदी बड़े उद्योगपतियों का साथ देते हैं ताकि कांग्रेस और केजरीवाल के राजनीतिक हित पूरे हो सकें।

भाजपा के प्रवक्ता श्री कांत शर्मा ने एक बड़ी लिस्ट भी शेयर की जिससे ये साबित हो सके कि जो भी देश के धन को बाँटने का धंधा चला वो UPA के शासन कल के दौरान चला और मोदी सरकार केवल और केवल वसूली के काम में लगी है , नोट बाँटने के काम में नहीं । उन्होंने काग़ज़ात दिखाकर ये भी बताया कि कांग्रेस ने उद्योगपतियों और बड़े लोगों के  36.5 हज़ार करोड़ रुपए लोन भी माफ़ किया था ।

Gyan Dairy

लेकिन अब पहली बार इससे सम्बंधित बातों पर भाजपा ने बड़ा ख़ुलासा कर दिया है और कांग्रेस को ही बुरी तरह लपेट दिया है । भाजपा के श्री कांत शर्मा ने कहा कि UPA के शासन काल के दौरान अडानी को 72,000 करोड़  का लोन और अम्बानी को उनसे भी ज़्यादा 1, 13000 करोड़ रुपए का लोन दिया गया । इन बड़े बड़े घरानों से लोन वसूली का काम मोदी के PM बनने के बाद भाजपा ने शुरू किया ।

Share