वित्त सचिव ने कहा की 30 दिसंबर के बाद होगी बैंकों से नकदी निकासी सीमा की समीक्षा

वित्त मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि नोटबंदी के बाद बैंक खातों से पैसे निकालने की सीमा की 30 दिसंबर के बाद समीक्षा की जाएगी. पुराने 500 और 1000 के नोटों को खातों में जमा करने का यह आखिरी दिन है.

नोटबंदी के वृद्धि पर असर के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने स्वीकार किया कि नकदी में काम करने वाला अनौपचारिक क्षेत्र समस्या का सामना कर रहा है. लवासा ने कहा, आगे चलकर 30 दिसंबर की अवधि बीतने के बाद इसके प्रभाव का शांत तरीके से आकलन किया जाएगा. रिजर्व बैंक ने चालू वित्त वर्ष के लिए वृद्धि दर के अनुमान को 7.6 से घटाकर 7.1 प्रतिशत कर दिया है.

Gyan Dairy

सरकार ने बैंक खातों से निकासी की सीमा 24,000 रुपये प्रति सप्ताह तय की है. एटीएम से प्रतिदिन 2,500 रुपये निकाले जा सकते हैं. वित्त सचिव अशोक लवासा ने फिक्की के कार्यक्रम में कहा, 30 दिसंबर के बाद इसकी समीक्षा की जाएगी. स्थिति को सामान्य करने को जिन कदमों की जरूरत होगी, वे उठाए जाएंगे. मेरा मानना है कि समीक्षा पूरी होने के बाद इस पर फैसला किया गया.

Share