नोटबंदी, सत्यम और व्यापम की जाँच करने वाले CBI अफसरों को गणतन्त्र दिवस पर सम्मान

नई दिल्ली : गणतंत्र दिवस के अवसर पर सीबीआई के 28 अधिकारियों को विशिष्ट और उत्कृष्ट सेवा पदक से नवाजा जायेगा। ये वही अफसर हैं जो देश में सत्यम, व्यापम और नोटबंदी से जुड़े कई मामलों की जाँच कर रहे हैं। सम्मान पाने वालों में सीबीआई के हैदराबाद में तैनात संयुक्त निदेशक ए वाई वी कृष्णा भी हैं। उन्होंने कई करोड़ के जटिल सत्यम घोटाले की जांच की थी और तीन महीने के अंदर आरोपपत्र दायर किया था।

ए वाई वी कृष्णा की जाँच के कारण सत्यम प्रमुख रामलिंगा राजू और अन्य को दोषी ठहराया गया और उनपर भारी जुर्माना लगा था। कृष्णा को उत्कृष्ट सेवा के लिए इस वर्ष राष्ट्रपति के पुलिस पदक से नवाजा गया है। जबकि चंडीगढ़ में पदस्थापित डीआईजी तरूण गौबा ने व्यापम घोटाले की जांच की थी।

मध्यप्रदेश पेशेवर परीक्षा बोर्ड के माध्यम से उम्मीदवारों के चयन में भ्रष्टाचार के आरोप लगने से राजनीतिक हलकों में काफी हलचल मची थी। आठ नवम्बर 2016 को नोटबंदी की घोषणा के बाद अवैध रूप से नोट बदलने से जुड़े मामलों का पता लगाने में चेन्नई में पदस्थापित पुलिस अधीक्षक पी. सी. थेनमोझी ने अहम भूमिका निभाई थी।

Gyan Dairy

गौबा और थेनमोझी को उत्कृष्ट सेवा के लिए पुलिस पदक से नवाजा गया है। राष्ट्रपति के पुलिस पदक से सम्मानित अन्य अधिकारियों में पुलिस अधीक्षक सुशील प्रसाद सिंह, अतिरिक्त एसपी देवेन्द्र सिंह, पुलिस उपाधीक्षक किशन सिंह नेगी, निरीक्षक बंशीधर तिवारी और सहायक उपनिरीक्षक जी. सत्यनारायण शामिल हैं।

Share