CBSE 10th Result 2021: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने घोषित किया 10वीं का रिजल्ट, 99.04 फीसदी छात्र हुए पास

नई दिल्ली। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ( CBSE) ने 10वीं कक्षा का रिजल्ट आज यानी मंगलवार को घोषित कर दिया है। सीबीएसई बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट cbseresults.nic.in या cbse.gov.in पर CBSE Class 10 Result 2021 चेक किया जा सकता है। सीबीएसई में इस साल 99.04 फीसदी छात्र पास हुए हैं। पिछले साल यह परिणाम 91.46 फीसदी था। लगातार दूसरे साल सीबीएसई ने टॉपरों का ऐलान नहीं किया है। बता दें कि कोरोना के चलते इस साल सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं रद्द कर दी गईं थीं। बोर्ड ने 10वीं 12वीं के छात्रों का परिणाम तैयार करने के लिए मूल्यांकन नीति जारी की गई थी।

इस साल कुल 2,00,962 छात्रों ने 90-95 फीसदी के बीच और 57,824 छात्रों ने 95 फीसदी से अधिक नम्बर हासिल किए हैं। इसके साथ ही बोर्ड ने 10वीं के 16639 स्टूडेंट्स का रिजल्ट जारी नहीं किया है। लड़कियों का प्रदर्शन इस बार भी बेहतर रहा। लड़कियों का रिजल्ट 99.24 फीसदी और लड़कों का रिजल्ट 98.89 फीसदी रहा। इस वर्ष 99.04 फीसदी स्टूडेंट्स पास हुए हैं। पिछले साल परिणाम 91.46 फीसदी और वर्ष 2019 में 91.10 फीसदी रहा था।

10वीं कक्षा की परीक्षा के लिए पंजीकृत 2097128 विद्यार्थियों में से 2076997 विद्यार्थी पास घोषित किए गए हैं। पिछले साल की तरह तिरुवनंतपुरम रीजन का रिजल्ट इस बार भी सबसे अच्छा (99.99) रहा है। पिछले साल 99.28 रहा था। दूसरे स्थान पर बेंगलुरु रीजन (99.96) और तीसरे स्थान पर चेन्नई (99.94) रहा। केंद्रीय विद्यालय और सीटीएसए का रिजल्ट 12वीं की तरह 10वीं में भी 100 फीसदी रहा है। जवाहर नवोदय विद्यालय का रिजल्ट 99.99 फीसदी, सरकारी स्कूलों का रिजल्ट 96.03 फीसदी, सरकारी सहायत प्राप्त स्कूलों का 95.88 फीसदी और प्राइवेट स्कूलों का रिजल्ट 99.57 फीसदी रहा।

Gyan Dairy

सीबीएसई रिजल्ट डिजिलॉकर में उपलब्ध होगा। स्टूडेंट्स अपने महत्वपूर्ण डॉक्यूमेंट्स जैसे अपनी मार्क्सशीट, माइग्रेशन सर्टिफिकेट आदि डिजिलॉकर अकाउंट में लॉग इन करके पा सकते हैं। सीबीएसई स्टूडेंट्स का डिजिलॉकर अकांउट होने पर उसके डॉक्यूमेंट्स सीधे उनके डिजिलॉकर अकाउंट्स से लिए जा सकेंगे। आपको बता दें कि डिजिलॉकर एक सुरक्षिक क्लाउड बेस्ड प्लेटफॉर्म है जहां से डॉक्यूमेंट्स को स्टोर, शेयर वेरिफाई कर सकते हैं। ऑनलाइन क्लास में शामिल नहीं होने वाले या प्री-बोर्ड और छमाही परीक्षा से गायब होने वाले छात्रों को अनुपस्थित माना जाएगा।

Share