जंगल की जमीन पर मंत्री की बीवी बनवा रहीं मौजमस्ती के लिए आलीशान रिसॉर्ट, विभाग ने साधी चुप्पी

छत्तीसगढ़ मंत्री और बीजेपी नेता की पत्नी जंगल की सरकारी जमीन पर अपना स्वामित्व जमा अपनी मौज मस्ती के लिए आलीशान रिसॉर्ट बनवा रही हैं। जिस पर विभाग का कहना है कि इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं करना संभव है।

रिसॉर्ट बनवाने के इस काम में मंत्री का पूरा परिवार शामिल है। दो कंपनियों, आदित्य श्रीजन प्राइवेट लिमिटेड और पूरब वानिज्य प्राइवेट लिमिटेड ने इसी काम  के लिए जमीन को लिया है। कंपनी के रजिस्ट्रार के रिकॉर्ड बताते हैं कि पूर्व कंपनी में सरिता अग्रवाल और उनके बेटे अभिषेक अग्रवाल दोनों निर्देशक हैं, जबकि परभसा वान्याज ने अभिषेक अग्रवाल को अपने निदेशक के रूप में शामिल किया है।

दरअसल छत्तीसगढ़ मंत्री और बीजेपी नेता बृजमोहन अग्रवाल की पत्नी सरिता अग्रवाल ने 4.21 हेक्टेयर वन भूमि को खरीदा है।  छत्तीसगढ़ के महासामंड जिले में सिरपुर के पास स्थित  रिसॉर्ट जिसे श्याम वाटिका कहा जाता है। कहा जाता है कि पिछले कई सालों से यहां पर निर्माण कार्य जारी है।  माना जा रहा है कि अग्रवाल के मंत्रालय ने इस क्षेत्र को एक संभावित पर्यटन स्थल के रूप में पहचाना है।

चौंका देने वाला आया कि मंत्री की पत्नी को यह सरकारी जमीन विभाग के अधिकारियों के ढिलाई के कारण उनके नाम हो सकी।

Gyan Dairy

जमीन के कागजों से पता चलता  है कि सरिता अग्रवाल ने 12 सितंबर 2009 को 1.38, 1.37 और 1.37  हेक्टेयर कुल 4.12 हेक्टेयर जमीन को कुल 5,30,600 रुपए में खरीदा था।

जबकि 16 मार्च, 2017 को, कलेक्टर ने मुख्य सचिव से जवाब मांगा तो सामने आया कि यह भूमि वन विभाग को दी गई थी, लेकिन राजस्व रिकॉर्ड में नाम बदलने के बाद से ढिलाई थी, यह मूल मालिक के नाम पर बना रहा विष्णु राम ने इसे सरिता अग्रवाल को बेच दिया।

विभाग ने कार्रवाई से झाड़ा पल्ला जबकि विभाग का इस पूरे मामले पर कहना है कि यह जमीन मंत्री की पत्नी सरिता अग्रवाल को बेच दी गई है इसलिए इस मामले में कार्रवाई करना संभव नही हैं।

Share