सुधर नहीं रहा चीन, लद्दाख में गोगरा-हॉट स्प्रिंग से सैनिक हटाने से किया इंकार, जानें पूरा मामला

नई दिल्ली। भारत के साथ लंबे समय से लद्दाख में तनाव पैदा कर रहा चीन सुधरने का नाम नहीं ले रहा है। चीन अड़ियल रुख अपनाते हुए पूर्वी लद्दाख में हॉट स्प्रिंग्स, गोगरा और देपसांग के तनावपूर्ण क्षेत्रों में सैनिक पीछे हटाने से इनकार कर रहा है। बीते सप्ताह 11वें दौर की सैन्य वार्ता में चीन ने पीछे हटने पर इंकार कर दिया है।

‘पीएलए ने गोगरा-हॉट स्प्रिंग्स इलाकों में अप्रैल 2020 से पहले वाली स्थिति पर वापस जाने से इनकार कर दिया है। इसकी बजाय उन्होंने अपनी ओर से भारतीय सेना को विचार करने के लिए कुछ प्रस्ताव दिए हैं। इस इलाके में सैनिकों के पूरी तरह पीछे हटने में कुछ और समय लगेगा।’वार्ता में साफ हुआ कि चीन यह चाहता है कि भारतीय सेना अब एलएसी के पास पट्रोलिंग पॉइंट 15 और 17ए पर उसकी नई स्थिति को स्वीकार करे और वह इन इलाकों में अप्रैल 2020 से पहले की स्थिति पर जाने में भी आनाकानी कर रहा है।

Gyan Dairy

‘गोगरा-हॉट स्प्रिंग्स इलाकों में चीन के करीब 60 सैनिक अप्रैल 2020 की स्थिति से आगे मौजूद हैं और इस इलाके को खाली करने की प्रक्रिया तब तक पूरी नहीं मानी जाएगी जब तक चीन अपने सैनिक नहीं हटाएगा। एक बार यह चरण पूरा हो जाए इसके बाद देपसांग इलाके में भारतीय सेना के पट्रोलिंग अधिकारों के मुद्दे पर आगे बढ़ा जाएगा। यह मुद्दा साल 2013 से बना हुआ है।’ दरअसल ये इलाके भारत और चीन, दोनों के लिए रणनीतिक तौर पर बेहद अहम है। चीनी सेना गोगरा, हॉट स्प्रिंग और कोंगका ला क्षेत्र से इलाके में तैनात अपने सैनिकों के लिए भारी मात्रा में रसद पहुंचा पाती है।

Share