पंजाब में कोरोना: नाइट कर्फ्यू के बाद अमरिंदर सरकार का बड़ा फैसला, अब दिन में एक घंटे नहीं चलेंगे वाहन

चंडीगढ़। देश में कोरोना वायरस का कहर एक बार फिर बढ़ता जा रहा है। तेजी से बढ़ रहे संक्रमण के बीच पंजाब की कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार ने 11 जिलों में नाइट कर्फ्यू लगा रखा है। नाइट कर्फ्यू 9 बजे से सुबह 6 बजे तक लागू रहेगा। पंजाब में 31 मार्च तक सारे स्कूल, कॉलेजों को बंद कर दिया गया है। इस बीच राज्य के स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने शुक्रवार को बताया कि नाइट कर्फ्यू के साथ ही अब दिन में भी पाबंदियां लगाई गई हैं। अब दिन में 11 बजे से 12 बजे तक एक घंटे के लिए सड़क पर वाहन नहीं चलेंगे।

पंजाब सरकार ने निर्देश दिया है कि सिनेमा हॉल भी 50 फीसदी क्षमता के साथ ही चलेंगे। शापिंग मॉल्स में एक समय में 100 से ज्यादा लोगों की एंट्री नहीं हो सकती। सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपील की है कि घर में एक समय में 10 से ज्यादा लोगों की मौजूदगी नहीं होनी चाहिए। दो सप्ताह तक सामाजिक कार्यक्रमों से बचें। सबसे ज्यादा प्रभावित 11 जिलों में नाइट कर्फ्यू लगा हुआ है। इसके अलावा शादी, अंतिम संस्कार जैसे कार्यक्रमों को ही करने की इजाजत है। इनमें भी 20 से ज्यादा लोगों की मौजूदगी नहीं होनी चाहिए। ये पाबंदियां रविवार से लागू हो रही हैं।

Gyan Dairy

चीफ मिनिस्टर ने नाइट कर्फ्यू के दौरान इंडस्ट्रीज के अलावा नाइट कर्फ्यू में अन्य गतिविधियों पर पाबंदी लगाने को कहा है। बता दें कि सूबे के 11 जिलों में नाइट कर्फ्यू का ऐलान किया गया है। इनमें लुधियाना, जालंधन, पटियाला, मोहाली, अमृतसर, होशियारपुर, कपूरथला, एसबीएस नगर, फतेहगढ़ साहिब, रोपड़ और मोगा शामिल हैं। जिन जिलों में नाइट कर्फ्यू लगा है वहां के सरकारी दफ्तरों में पब्लिक मीटिंग्स पर भी रोक है। इसके अलावा नागरिकों से कहा गया है कि वे बेहद जरूरी होने पर ही सरकारी कार्यालय में जाएं।

Share