blog

कोरोना का आतंक: जानिए क्या है लॉकडाउन और कर्फ्यू, दो में है यह अंतर

कोरोना का आतंक: जानिए क्या है लॉकडाउन और कर्फ्यू, दो में  है यह अंतर
Spread the love

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस का संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा हैै। देश में संक्रमितों की संख्या 415 पहुंच गई है। कोरोना के चलते अब तक आठ लोगों की मौत हो चुकी है। कोरोना वायरस से निपटने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर रविवार 22 मार्च देश में सफलतापूर्वक जनता कर्फ्यू लगाया गया। इसके बाद रविवार की शाम को कुछ राज्यों ने लॉकडाउन कर दिया। देश के 75 जिलों में लॉकडाउन किया गया है। वहीं पंजाब सरकार ने कर्फ्यू लगा दिया है। इस मौके पर हम आपको बताएंगे कि लॉकडाउन और कर्फ्यू में क्या अंतर है।

कर्फ्यू क्या है
जब किसी क्षेत्र में कर्फ्यू लगाया जाता है तो लोगों को घरों में रहने का आदेश दिया जाता है। प्रशासन आपातकालीन परिस्थितियों में ही कर्फ्यू लगाता है। कर्फ्यू में प्रशासनिक आदेश के तहत लोगों को हिदायत दी जाती है कि वो अपने घरों से बाहर सड़कों पर न निकलें। कर्फ्यू के दौरान स्कूल, कॉलेज, बाजार सब बंद रहते हैं। इसका उल्लंघन करने वाले की गिरफ्तारी भी सकती है और जुर्माना भी लगाया जा सकता है।

यह होता है लॉकडाउन

लॉकडाउन एक प्रकार की आपातकालीन व्यवस्था होती है। नागरिकों को अलग-थलग करने के लिए इसे लगाया जाता है। लॉकडाउन के समय लोगों को किसी इलाके या इमारत में रहने के निर्देश दिए जाते हैं और वहां से निकलने के लिए मना किया जाता है। हालांकि, इस दौरान आवश्यकता पड़ने पर बाहर निकलने की अनुमति होती है। लॉकडाउन के दौरान आवश्यक सुविधाएं जारी रहती हैं, लेकिन यह भी प्रशासन पर निर्भर करता है कि वो किन सेवाएं को जारी रखना चाहता है। देखा जाए तो बैंक, बाजार, सब्जी की दुकानें, डेरी वगैरह को खुला रखा जाता है। अगर किसी को दवा या खाने-पीने की चीजों की जरूरत है तो बाहर निकल सकता है। कर्फ्यू के दौरान इन सब पर पाबंदी होती है।

कर्फ्यू और लॉकडाउन में यह है अंतर
कर्फ्यू और लॉकडाउन दोनों को अलग-अलग स्थितियों में लगाया जाता है। दोनों के बीच अंतर प्रशासन द्वारा जारी रखी गईं सेवाओं का होता है। किसी इलाके में अगर दंगे या हिंसा होती है तो प्रशासन उस विकट स्थिति पर काबू पाने के लिए कर्फ्यू लगाता है। कर्फ्यू के दौरान जरूरी सेवाएं जैसे बाजार और बैंकों पर ताला लटका रहता है। जब कर्फ्यू में ढील दी जाती है तभी ये सारी सेवाओं का लाभ घरों में बंद लोगों को मिलता है और वो बाहर निकल सकते हैं। लॉकडाउन में जरूरी सेवाएं बंद नहीं की जाती हैं। जैसा फिलहाल हमारे देश में है। देश के कई राज्यों और शहरों में लॉकडाउन किया गया है, लेकिन बैंक, डेरी, जरूरी सामान के लिए दुकानें खुली हुई हैं। जनता के लिए आवश्यक सेवाएं जारी हैं।

You might also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *