भारत-चीन सीमा विवाद पर रक्षामंत्री की हाई लेवल मीटिंग, जमीनी हालात की हो रही समीक्षा

नई दिल्ली। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह भारत-चीन विवाद को लेकर हाईलेव मीटिंग कर रहे हैं। इस मीटिंग में वहां के जमीनी हालातों की समीक्षा की जा रही है। इस मीटिंग में तीनों सेनाओं के प्रमुख और सीडीएस बिपिन रातव मौजूद हैं। बताया जा रहा है कि इस मीटिंग में मौजूदा स्थिति के बारे में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह तीनों सेनाओं के प्रमुख और सीडीएस से जानकारी लेंगे, जिसके बाद आगे का फैसला लिया जायेगा।

बता दें कि, चीन पर सीमा विवाद को लेकर जल, थल और वायुसेना अलर्ट पर है। 18 जून को हुई बैठक के बाद तीनों सेनाओं को अलर्ट पर रखा गया था। गौरतलब है कि, 3500 किलोमीटर की चीन सीमा पर भारतीय सेना की कड़ी नजर है। तीनों सेनाओं को हाई अलर्ट पर रखा गया है। चीनी नौसेना को कड़ा संदेश भेजने के लिए हिंद महासागर क्षेत्र में नौसेना भी अपनी तैनाती बढ़ा रही है।

इसके साथ ही सेना ने पहले ही अरुणाचल प्रदेश, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश और लद्दाख में लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) के साथ अपने सभी प्रमुख फ्रंट-लाइन ठिकानों पर अतिरिक्त जवानों को तैनात किया है। वायुसेना ने पहले से ही अपने सभी फॉरवर्ड लाइन बेस में एलएसी और बॉर्डर एरिया पर नजर रखने के लिए अलर्ट स्तर बढ़ा दिया है।

Gyan Dairy

वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने कह चुके हैं कि हम किसी भी कीमत पर अपनी संप्रभुता की रक्षा करेंगे। हमारे क्षेत्र में सुरक्षा परिदृश्य यह बताता है कि हमारे सशस्त्र बल हर समय तैयार और सतर्क रहते हैं। लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर छोटी सी सूचना पर हम हालात को संभालने के लिए तैयार हैं।

 

Share