PNB के ATM से बाइक में पेट्रोल भरवाते थे, ऐसे लखपति बन गया देहरादून का भरत

डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा देने की सरकार की मुहिम ने देहरादून के भरत सिंह की ज़िन्दगी को बदल कर रख दिया। नीति आयोग ने 25 दिसम्बर 2016 को एक योजना  शुरू की थी जिसमे कहा गया था कि भीम एप, रुपे डेबिट कार्ड और यूपीआई से सबसे ज्यादा लेनदेन करने वाले को पुरस्कार दिया जायेगा।

भरत का कहना है कि साल 2014 में पंजाब नेशनल बैंक ने उनके गाँव में खाता खोलने के लिए केम्प लगाया था। जिसमे उन्होंने खाता खुलवाया था। नोटबंदी के बाद भरत मोटरसाइकिल में पेट्रोल भरवाने से लेकर छोटी मोटी खरीदारी अपने पीएनबी के एटीएम से करने लगे।

राष्ट्रपति भवन में जब इस योजना का लकी ड्रा निकला तो देहरादून के राजपुर रोड स्थित एक दुकान पर काम करने वाले रहने वाले भरत का तीसरा स्थान निकला। इससे पहले देहरादून के शिमला रोड स्थित शेरपुर गाँव के रहने वाले भरत ग़ुरबत की जिंदगी जी रहे थे। वह देहरादून में एक दुकान पर काम करते हैं और रोज 60 किलोमीटर की दूरी तय कर नौकरी करने आते हैं। उनके तीन बच्चे गाँव के ही सरकारी स्कूल में पढ़ते हैं।

Gyan Dairy

इनाम जीतने के बाद भरत का कहना है कि वह सबसे पहले अपने बच्चों को सरकारी स्कूल से प्राइवेट स्कूल में डालेंगे। भरत को 14 अप्रैल को अंबेडकर जयंती के मौके पर नागपुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों पुरस्कार मिलेगा।

Share