26 जनवरी को किसान ट्रैक्टर रैली निकालने से दिल्ली पुलिस ने किया मना, कल होगी बैठक

नई दिल्ली। देश में चल रहे नए कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली बार्डर पर हो रहे किसान आंदोलन के बीच गणतंत्र दिवस के मौके पर किसानों की ओर से प्रस्तावित ट्रैक्टर रैली के लिए दिल्ली पुलिस और किसान संगठनों के बीच गुरुवार को सिंघु बॉर्डर के निकट मंत्रम रिजॉर्ट में हुई बैठक खत्म हो गई। संयुक्त पुलिस आयुक्त उत्तरी क्षेत्र एस.एस. यादव इस बैठक का समन्वय कर रहे थे। बैठक के बाद क्रांतिकारी किसान यूनियन के नेता दर्शन पाल ने कहा कि दिल्ली सरकार के आउटर रिंग रोड पर सुरक्षा कारणों से गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर परेड का आयोजन नहीं किया जा सकता है।लेकिन हम केवल वहीं ट्रैक्टर परेड करेंगे। केंद्र के साथ कल की बैठक के बाद हम पुलिस के साथ एक और बैठक करेंगे।

इसी तरह एक बैठक किसान नेताओं और दिल्ली, उत्तर प्रदेश और हरियाणा पुलिस बलों के अधिकारियों ने बुधवार को यहां विज्ञान भवन में की थी।पुलिस अधिकारियों ने प्रस्तावित ट्रैक्टर रैली को दिल्ली के व्यस्त बाहरी रिंग रोड की बजाय कुंडली मानेसर पलवल एक्सप्रेस वे पर आयोजित करने का सुझाव दिया था, जिसे किसान संगठनों ने अस्वीकार कर दिया था। किसान आंदोलन को समाप्त करने के एक प्रयास के तहत केंद्र सरकार ने बुधवार को आंदोलनकारी किसान संगठनों के समक्ष इन कानूनों को एक से डेढ़ साल तक निलंबित रखने और समाधान का रास्ता निकालने के लिए एक समिति के गठन का प्रस्ताव रखा।

 

Gyan Dairy

 

Share