विश्व भर में भारत की जय जयकार से ड्रैगन बौखलाया, कोरोना को मात देने में भारत आगे

नई दिल्ली। विश्व भर में कोरोना महामारी ने सभी को परेशान कर रखा था। इस दुख के समय में भारत ने अपने सभी पड़ोसी देशों के साथ-साथ और कई देशों को भी मुफ्त वैक्सीन देकर उनकी मदद की है, इससे दुनिया भर में भारत की जय जयकार हो रही है। दुनियाभर में भारत की हो रही वाह-वाही देखकर चीन ने भी अपनी वैक्सीन डिप्लोमेसी में बदलाव करने को मजबूर कर दिया है। भारत की वैक्सीन डिप्लोमेसी को देखकर चीन ने पाकिस्तान के अलावे कुछ अन्य देशों को मुफ्त वैक्सीन देने का मन बनाया है। पाकिस्तान को पांच लाख कोरोना वैक्सीन देने का वादा करने वाले चीन ने श्रीलंका को 3 लाख कोरोना टीके मुफ्त में देने का वादा किया है। चीन ने गुरुवार को कहा कि वह श्रीलंका को तीन लाख कोरोना टीके मुफ्त में देगा।

इसी के साथ भारत चीन के बीच टीका कूटनीति की रेस तेज होती दिख रही है। भारत पहले ही अपने पड़ोसी देशों को मुफ्त में टीका उपलब्ध करा चुका है। भारत दुनियाभर के देशों को टीका भेज रहा हैए जिसके जवाब में अब चीन ने भी मुफ्त में टीका देना शुरू किया है। बताया जा रहा है कि श्रीलंका के अनुरोध पर चीन ने तीन लाख टीके भेजने का फैसला लिया। चीनी कंपनी सिनोफर्मा निर्मित कोरोना टीके की पहली खेप श्रीलंका को फरवरी मध्य तक मिल जाएगी। अब तक यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि श्रीलंका को खुद से चीन ने वैक्सीन ले जाने के लिए कहा है या फिर ड्रैगन पहुंचाएगा। यहां इस बात का जिक्र करना इसलिए भी जरूरी था क्योंकि चीन ने पाकिस्तान को जब टीका देने का ऐलान किया था, तब उसने पाकिस्तान को स्पष्ट रूप से कहा था कि अपना विमान लाओ और यहां से वैक्सीन लेकर जाओ।

भारत के कोरोना टीके को लेकर अब दुनियाभर के देश दिलचस्पी दिखा रहे हैं। भारतीय विदेश मंत्रालय के अनुसार, भारत से कोरेाना वैक्सीन हासिल करने में विभिन्न देशों ने रूचि दिखाई है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने बताया कि पीएम मोदी की कोरोना से लड़ाई में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सहयोग की प्रतिबद्धता के मुताबिक भारत विभिन्न देशों को वैक्सीन दे रहा है। हमने अपने पड़ोस में सबसे पहले वैक्सीन उपलब्ध कराने का दायित्व निभाया है और इसके अलावा अन्य देशों को भी आपूर्ति की है।

Gyan Dairy

 

 

Share