सीमा पर चौकसी के लिए DRDO विकसित करेगा नए निगरानी विमान, जानें खासियत

नई दिल्ली। हमारे देश में रक्षा उपकरण बनाने के लिए प्रख्यात रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) ने छह नए एयरबोर्न अर्ली वॉर्निंग एंड कंट्रोल विमान विकसित करने की योजना बनाई है। इन विमानों के आने से नसिर्फ भारतीय वायुसेना की ताकत बढ़ेगी बल्कि पड़ोसी देशों की निगरानी करने में भी सहायता मिलेगी।

सूत्रों के मुताबिक रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) इन विमानों पर 10,500 करोड़ रुपये तक खर्च करने की तैयारी कर रहा है। माना जा रहा है कि डीआरडीओ सारे विमान एयर इंडिया से खरीदेगा। इसके बाद इसमें कई तरह के बदलाव किए जाएंगे। बदलाव के बाद ये विमान रडार के साथ उड़ान भरके सुरक्षा एजेंसियों को 360 डिग्री निगरानी की क्षमता प्रदान कर पाएंगे।

Gyan Dairy

माना जा रहा है कि ये नए विमान नेत्र (NETRA) विमानों से अधिक क्षमतावान होंगे। साथ ही दुश्मन के इलाकों में होने वाली किसी भी गतिविधि की बेहतर निगरानी कर सकेंगे।

Share