ईडी ने विजय माल्या, नीरव मोदी और मेहुल चोकसी की 9371 करोड़ की संपत्ति बैंकों को सौंपी, बेंचकर होगी वसूली

नई दिल्ली। बैंकिंग घोटाले करके फरार हो जाने वाले जालसाजों से सरकार सख्ती से निपट रही है। सरकारी कार्यवाही का असर अब दिखने लगा है। इसी के चलते विजय माल्या, नीरव मोदी और मेहुल चोकसी की करीब 9371 करोड़ रुपए की संपत्ति सरकारी बैकों को ट्रांसफर हो गई है। प्रवर्तन निदेशालय का कहना है कि विजय माल्या, नीरव मोदी और मेहुल चोकसी की 9,371 करोड़ रुपये की संपत्ति सरकारी बैंकों को ट्रांसफर कर दी गई है। इस सम्पत्ति से बैंक अपने नुकसान की भरपाई कर सकते हैं। विजय माल्या और पीएनबी धोखाधड़ी केस में बैंकों की 40 फीसदी राशि पीएमएलए के तहत जब्त किए गए शेयरों की बिक्री के जरिए वसूली गई।

प्रवर्तन निदेशालय ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि कि ईडी ने न केवल पीएमएलए के तहत विजय माल्या, नीरव मोदी और मेहुल चोकसी के मामले में 18,170.02 करोड़ (बैंकों को कुल नुकसान का 80.45%) रुपये की संपत्ति को जब्त किया है, बल्कि 9371.17 करोड़ की कीमत वाली संपत्ति को सरकारी बैंकों को ट्रांसफर भी किया है। मेहुल चोकसी और उसके भतीजे नीरव मोदी पर कुछ बैंक अधिकारियों की मिलीभगत से पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) के साथ कथित तौर पर 13,500 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी करने का आरोप है। नीरव मोदी अभी लंदन की एक जेल में बंद है, जबकि मेहुल चोकसी डोमिनिका की जेल में बंद है। दोनों के खिलाफ केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) जांच कर रहा है और उसे भारत प्रत्यर्पित करने की कोशिश जारी है।

Gyan Dairy

 

Share