ईडी ने जब्त किया अनिल देशमुख का फ्लैट और जमीन, जानें पूरा मामला

मुंबई। मनी लांड्रिंग केस में महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री और एनसीपी नेता अनिल देशमुख पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) का शिकंजा कसता जा रहा है। प्रवर्तन निदेशालय ने अनिल देशमुख और उनके परिवार की करीब 4.20 करोड़ रुपए मूल्य की संपत्ति अटैच कर ली है। ईडी ने वर्ली स्थित अनिल देशमुख के 1.54 करोड़ रुपए मूल्य के रिहायशी फ्लैट, रायगढ़ की 2.67 करोड़ रुपये की जमीन जब्त की है।

ईडी ने अनिल देशमुख को 3 बार समन भेजकर पूछताछ के लिए बुलाया लेकिन एनसीपी नेता जांच एजेंसी के सामने पेश नहीं हुए हैं। ईडी ने अनिल देशमुख के बेटे ऋषिकेश और पत्नी आरती देखमुख को भी समन भेजा था लेकिन उन्होंने भी अपना बयान दर्ज नहीं कराया है। ये समन महाराष्ट्र पुलिस से संबंधित 100 करोड़ रुपये के कथित घूस-सह-वसूली मामले के संबंध में पीएमएलए के तहत दर्ज मामले के सिलसिले में जारी किए गए थे।

Gyan Dairy

इसी मामले के चलते देशमुख को इस साल अप्रैल में अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा था। देशमुख के वकील कमलेश घुमरे ने हाल ही में कहा था कि अनिल देशमुख मानते हैं कि उनके खिलाफ ईडी की जांच न्यायसंगत नहीं है। इसलिए वह ईडी के सामने उपस्थित नहीं हो रहे हैं। ईडी ने ये कार्रवाई आईपीसी की धारा 120-B, 1860 और PM अधिनियम 1988 की धारा 7 के तहत की है।

Share