सोनिया गांधी का बढ़ाया गया कार्यकाल, बनीं रहेंगी Congress की अंतरिम अध्यक्ष

नई दिल्ली: कांग्रेस (Congress) में जबसे राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया तभी से कांग्रेस अध्यक्ष की तलाश कर रही है लेकिन अभी तक कोई भी चेहरा खोजने में नाकाम रही है। वहीं सोनिया गांधी को कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष बनाया गया था, हालांकि उनका कार्यकाल समाप्त हो रहा था लेकिन वो अंतरिम अध्यक्ष बनी रहेंगी। पार्टी का कहना है कि कोरोना के चलते चुनाव ना हो पाने की वजह से कार्यकाल बढ़ाया गया है। जब तक अगला अध्यक्ष नहीं चुन लिया जाता,तब तक सोनियां गांधी ही पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष के तौर पर जिम्मेदारी संभालती रहेंगी।

आपको बता दें कि आज उनके कार्यकाल का एक साल पूरा रहा है और पार्टी संविधान के मुताबिक अतंरिम अध्यक्ष का चुनाव एक साल के अंदर होता है। अंतरिम अध्यक्ष को एक्सटेंशन एक तकनीकी ज़रूरत है जिसे पूरा कर लिया गया है। कायदे के मुताबिक इस बारे में जानकारी चुनाव आयोग को भी दे दी जाएगी।

इस बावत पार्टी प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी का कहना है कि सोनिया गांधी को पार्टी के अंतरिम अध्यक्ष की जिम्मेदारी संभाले एक साल पूरा हो रहा है। पर इसका मतलब यह नहीं है पद खाली हो जाता है। पार्टी का कहना है कि कांग्रेस कार्यसमिति (CWC) की जल्द बैठक बुलाकर अध्यक्ष के तौर पर सोनिया गांधी के कार्यकाल को बढ़ा दिया जाएगा। सीडब्लूसी की बैठक इस माह की शुरुआत में होने की उम्मीद थी पर कुछ कारणों के चलते नहीं हो सकी।

इस सबके बीच पार्टी के अंदर पूर्णकालिक अध्यक्ष की मांग जोर पकड़ने लगी है। पार्टी के वरिष्ठ नेता शशि थरुर का कहना है कि राहुल गांधी के पास साहस, क्षमता और योग्यता है। अगर वह इस जिम्मेदारी को नहीं उठाना चाहते हैं, तो पार्टी को नया अध्यक्ष चुनने की दिशा में आगे बढना चाहिए। उन्होंने कहा कि वह मानते हैं कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से अनिश्चितकाल तक जिम्मेदारी को उठाने की उम्मीद करना उचित नहीं है।

Gyan Dairy

इस बीच, पार्टी के अंदर पूर्णकालिक अध्यक्ष की मांग जोर पकड़ रही है।लोकसभा सांसद शशि थरुर का कहना है कि राहुल गांधी के पास साहस, क्षमता और योग्यता है। अगर वह इस जिम्मेदारी को नहीं उठाना चाहते हैं, तो पार्टी को नया अध्यक्ष चुनने की दिशा में आगे बढना चाहिए। उन्होंने कहा कि वह मानते हैं कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से अनिश्चितकाल तक जिम्मेदारी को उठाने की उम्मीद करना उचित नहीं है। हालांकि उन्होंने ऐसे अपना निजी विचार बताया। उन्होंने कहा ‘आप जानते हैं कि मैं कुछ समय से इसकी हिमायत करता आ रहा हूं, यह कि कांग्रेस कार्य समिति और अध्यक्ष पद के लिए चुनाव कराए जाने से निश्चित रूप से पार्टी के हित में कई परिणाम आएंगे।’

आपको बता दें कि सोनिया गांधी पिछले साल 10 अगस्त को कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष बनी थीं। इससे पहले राहुल गांधी ने लोकसभा चुनाव में पार्टी के खराब प्रदर्शन की जिम्मेदारी लेते हुए अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share