किसान आंदोलनः जान गंवाने वाले किसानों को देंगे श्रद्धांजलि, हर गांव में होगी सभा

नई दिल्ली। नए कृषि कानूनों को लेकर किसानों का आंदोलन जारी है। किसान नए कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग कर रहे हैं, जबकि सरकार इन कानूनों से किसानों का फायदा होने की बात कह रही है। इस बीच आंदोलन के दौरान जान गंवाने वाले किसानों को याद किया जाएगा।

किसान संगठनों ने रविवार को पूर्व घोषित देशव्यापी श्रद्धांजलि सभा के बारे में भी आपस में चर्चा की। किसान नेताओं का कहना है कि खेती-किसानी बचाने के लिए करीब 30 किसानों ने अपने जान दी है। इनकी याद में होने वाली श्रद्धांजलि सभाओं से देश के सभी गांवों को किसान आंदोलन से जोड़ा जाएगा।

किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी ने कहा कि देश के सभी जिलों, तहसील व गांवों में श्रद्धांजलि सभाएं होंगी। इसमे आंदोलन के दौरान जान गंवाने वालों को याद किया जाएगा। जबकि भारतीय किसान यूनियन राजेवाल के ओंकार सिंह ने बताया कि किसानों की याद में 11 बजे से एक बजे के बीच श्रद्धांजलि सभाएं होंगी।

दूसरी तरफ सिंधु, टीकरी व गाजीपुर बॉर्डर के धरना स्थलों पर सभाएं होंगी। मुख्य आयोजन सिंघु बॉर्डर पर होगा। यहां किसान संगठनों के नेता मौजूद रहेंगे। किसान जान देने वाले अपने भाइयों को श्रद्धांजलि देंगे और सरकार के रवैए पर चर्चा करेंगे। श्रद्धांजलि सभा खत्म होने के बाद आखिर में सिंघु बॉर्डर पर दोपहर बाद दो बजे संयुक्त किसान मोर्चा के नेताओं की बैठक होगी।

Gyan Dairy

 

 

Share