चार पहिया वाहनों में फास्टैग की अनिवार्यता तिथि बढ़ी, जानें नई तारीख

लखनऊ। हाईवे पर चलने वाले वाहनों में 100 प्रतिशत फास्टैग की अनिवार्यता में फिलहाल 15 फरवरी तक मोहलत दी गई है। पहले ये डेट 31 दिसम्बर तक ही थी। इसके बाद 1 जनवरी 2021 से फास्टैग की अनिवार्यता थी। हालांकि अब ये तारीख 15 फरवरी 2021 कर दी गई है। इस बारे में केन्द्र सरकार ने 30 दिसंबर 2020 को एक पत्र जारी कर दिया है। एनएचएआई ने बताया कि लोगों को समय दिया गया कि 100 प्रतिशत फास्टैग सुनिश्चित हो सके।

आपको बता दें कि केन्द्र सरकार ने नेशनल हाइवे पर चलने वाले सभी वाहनों के लिए फास्टैग अनिवार्य कर दिया है। बिना फास्टैग लगे वाहनों से दोगुना टैक्स वसूला जाएगा। पहले चरण में सभी कामर्शियल वाहन इसके दायरे में आएंगे। इसके बाद बिना फास्टैग लगे प्राइवेट वाहनों को भी दोगुना टैक्स देना होगा। भोजीपुरा टोल प्लाजा समेत स्टेट हाइवे पर बने सभी टोल सेंटरों पर फिलहाल फास्टैग सिस्टम लागू नहीं होगा। उत्तर प्रदेश स्टेट हाइवे अथॉरिटी से मंजूरी मिलने के बाद ही स्टेट हाइवे में फास्टैग प्रक्रिया शुरू होगी। नेशनल हाइवे के सभी टोल प्लाजा पर लाइन लगाकर कैश में टोल देने का सिस्टम जल्दी बंद हो जाएगा। ।

एनएचएआई की ओर से निर्धारित आईएचएमसीएल कंपनी का टैग 500 रुपये का है। इसमें अभी तक टैग की कीमत 100 रुपयेए 200 रुपये सिक्योरिटी के और 200 रिचार्ज शामिल है। शनिवार से वाहन चालकों से सिर्फ 200 रुपये ही लिए जाएंगे। टैग की कीमत और सिक्योरिटी नहीं ली जाएगी। आईडीएफसी का टैग 150 का है। इसमें 50 टैग के और 100 रुपये का रिचार्ज है।

Gyan Dairy

फास्टैग की दरें निर्धारित नहीं हैं। इससे वाहन चालकों को अलग.अलग कंपनी से उनकी दरों पर फास्टैग खरीदने पड़ रहे हैं। बैंक और दूसरी कंपनी वाहन चालकों को उनके टैग खरीदने के लिए ऑफर दे रहीं हैं। एक और जहां पेटीएम फास्टैग लेने पर 150 रुपये में 150 का फुल रिचार्ज दे रही हैं तो वहीं एयरटेल कंपनी का फास्टैग 450 रुपये का है। इसमें कंपनी 100 रुपये फास्टैग और 200 रुपये सिक्योरिटी के ले रही हैं। टैग में 150 रुपये का रिचार्ज मिलेगा।

Share