मांगलिक दोष दूर करने के लिए महिला टीचर ने किशोर से रचाई शादी, तुरंत हो गई विधवा

जालंधर। पंजाब के जालंधर में कुंडली के मांगलिक दोष को दूर करने के लिए एक महिला टीचर ने अपने 13 साल के स्टूडेंट से शादी रचा ली। इसके बाद टीचर विधवा भी हो गई। घटना का पता तब चला जब शादी के बाद बच्चा अपने घर पहुंचा।

लड़​के के घर वालों ने बताया कि बच्च काफी समय से महिला टीचर के पास ट्यूशन पढ़ रहा था। कुछ दिन पहले ट्यूशन टीचर ने उनसे बताया कि बच्चे के एक्जाम होने वाले हैं। लिहाजा पढ़ाई के लिए उसे एक सप्ताह तक उनके घर पर रहना होगा। इसी का फायदा उठाकर टीचर ने बच्चे से शादी कर ली। सिर्फ टीचर के परिवार वालों को इस बात की जानकारी थी।

टीचर से शादी रचाने के बाद जब बच्चा अपने घर पहुंचा तो उसने परिजनों को शादी के बारे में बताया। परिजनों ने महिला टीचर के खिलाफ शिकायत की। परिवार वालों ने बताया कि टीचर और उसके परिजनों ने जबरन उनके बच्चे के साथ शादी की रस्में निभाई हैं। इसके बाद टीचर ने अपनी चूड़ियां तोड़कर खुद को विधवा घोषित कर दिया। अनुष्ठान को पूरा करने के लिए एक शोक सभी आयोजित की गई थी।

Gyan Dairy

वहीं, महिला शिक्षक ने पुलिस को बताया कि एक पंडित की ओर से मांगलिक दोष होने की बात बताए जाने के बाद से उसका परिवार काफी चिंतिंत था। पुजारी ने ही सुझाव दिया था कि उसे ‘दोष’ से छुटकारा पाने के लिए एक नाबालिग लड़के के साथ एक प्रतीकात्मक विवाह करना होगा।

 

Share