पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया, सेहत में नहीं हो रहा कोई सुधार

नई दिल्ली। पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की हालत में कोई सुधार नहीं हो रहा है। उन्हें वेंटिलेटर सपोर्ट पर खा गया है। पूर्व राष्ट्रपति 10 अगस्त को कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे और उनकी सैन्य रिसर्च एवं रेफरल (आर एंड आर) अस्पताल में ब्रेन सर्जरी हुई थी। इसके बाद भी उनके सेहत में कोई सुधार नहीं हुआ है।

दिल्ली छावनी स्थित आर एंड आर अस्पताल ने पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी दी है। अस्पताल ने कहा है कि पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की स्थिति में कोई बदलाव नहीं हुआ है। उन्हें फिलहाल वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया है। विशेषज्ञों की एक टीम द्वारा बारीकी से उनकी निगरानी की जा रही है।

बता दें कि 84 वर्षीय प्रणब मुखर्जी को 10 अगस्त को यहां सेना के रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल में भर्ती कराया गया था। यहां चिकित्सीय जांच में सामने आया कि उनके मस्तिष्क में एक बड़ा सा थक्का है, जिसके बाद उनकी मस्तिष्क की सर्जरी की गई थी। कोविड-19 जांच में उनके संक्रमित होने की भी पुष्टि हुई थी। वहीं, इस बीच उनके निधन की अफवाहें भी फैल गयीं थी। इसको लेकर उनके बेटे अभिजीत मुखर्जी ने नाराजगी जताई थी।

Gyan Dairy

 

Share