July 12, 2020

संकट में राजस्थान की गहलोत सरकार: सीएम ने बुलाई विधायकों की मीटिंग, दिल्ली से जयपुर जायेंगे 3 नेता

1 min read
ashok gehlot- sachin

राजस्थान: तो क्या गहलोत के साथ हैं सिर्फ 99 विधायक, जानें बचेगी या रहेगी कांग्रेस सरकार

दिल्ली। मध्यप्रदेश के बाद कांग्रेस की राजस्थान सरकार पर सकंट के बादल मंडरा रहे हैं। वहां पर कभी भी सरकार में उल्टफेर हो सकता है। वहीं, इस बीच खबर आ रही है कि सोनिया गांधी पूरे मामले को लेकर सक्रिय हो गयी हैं और उन्होंने तीन नेताओं को जयपुर भेजने का फैसला लिया है। वहीं, सीएम अशोक गहलोत ने भी आज रात नौ बजे विधायकों की मीटिंग बुलाई है।

सोनिया गांधी ने अजय माकन, रणदीप सुरजेवाला और अविनाश पांडे को जयपुर जाने को कहा है। तीनों नेता कांग्रेस विधायकों से बात करेंगे। अजय माकन, रणदीप सुरजेवाला और अविनाश पांडे रविवार रात जयपुर के लिए रवाना होंगे। वहीं, इससे पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने इसको लेकर चिंता जताई है।

उन्होंने इसको लेकर एक ट्वीट भी किया है। जिसमें उन्होंने लिखा है कि, क्या हम तभी जागेंगे जब घोड़े हमारे अस्तबल से भाग जाएंगे। बता दें कि,पायलट और ज्योतिरादित्य की दोस्ती, भाजपा नेताओं से संपर्क और सीएम से नाराजगी जैसे इन सारे तारों को जोड़ने के बाद साफ है कि गहलोत सरकार पर खतरे के बादल हैं। इस बात की चर्चा जोर पकड़ रही है कि क्या कांग्रेस के असंतुष्ट गुट के साथ मिलकर भाजपा मध्य प्रदेश और कर्नाटक की कहानी राजस्थान में भी दोहरा सकते हैं।

https://khabardekho.com/wp-content/uploads/2020/08/image001-1.jpg

राजनीतिक जानकारों का कहना है कि अगर गहलोत पर सरकार पर सियासी सर्जिकल स्ट्राइक होती है तो उसमें ज्योतिरादित्य की भूमिका को भी इन्कार नहीं किया जा सकता है। क्योंकि, जो स्थिति कमलनाथ सरकार में ज्योतिरादित्य की थी। कुछ वैसी ही गहलोत सरकार में सचिन पायलट की है। बार-बार मुख्यमंत्री के साथ टकराव होता है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights reserved. |