गाजियाबादः जज ने फांसी लगाकर दी जान, जानें पूरा मामला

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले में शुक्रवार को एक मजिस्ट्रेट द्वारा आत्महत्या करने का मामला सामने आने से अफरा तफरी मच गई हैं। पुलिस को जज द्वारा आत्महत्या करने के मामले का पता लगने पर मजिस्ट्रेट को तुरंत यशोदा अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। इसके बाद पुलिस द्वारा उनके शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है। घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस मामले की जांच में लगी हुई है। गाजियाबाद के अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश कोर्ट संख्या 9 में तैनात मजिस्ट्रेट योगेश कुमार ने जज कॉलोनी में अपने सरकारी आवास पर शुक्रवार की सुबह फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

46 वर्षीय योगेश कुमार शर्मा फ्लैट संख्या 303 टॉवर 2 जजेस रेजिडेंस, मॉडल टॉउन, थाना सिहानीगेट के निवासी थे। वह मूल रूप से मेरठ के रहने वाले थे। योगेश शर्मा की 17 मार्च 2020 को ही गाजियाबाद जिला अदालत में नियुक्ति हुई थी। एडीजे के पद पर यह उनकी पहली पोस्टिंग हुई थी। उनके परिवार में पत्नी सुचिता शर्मा और बेटा मनु शर्मा 15 वर्ष और बेटी नंदिनी 12 वर्ष हैं। आत्महत्या के कारणों का पता नही लगाया जा सका है। पुलिस के अनुसार, अभी तक सुसाइड करने की वजह का खुलासा नहीं हो पाया है। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो सकेगी।

Gyan Dairy
Share