गुलाम नबी आजाद बोले- किसान आंदोलन के समर्थन में राष्ट्रपति के अभिभाषण का बहिष्कार करेगी कांग्रेस, 16़ दलों का समर्थन

नई दिल्ली। कृषि कानूनों के खिलाफ दो महीने से आंदोलन कर रहे किसानों के समर्थन में कई विपक्षी दल उतर आये हैं। कांग्रेस समेत 16 विपक्षी दलों ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण के बहिष्कार का फैसला किया है। राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद ने इसकी जानकारी दी।

बता दें कि राष्ट्रपति कोविंद शुक्रवार को संसद के दोनों सदनों की संयुक्त बैठक को संबोधित करेंगे। इसके साथ ही शुक्रवार को बजट सत्र का आगाज होगा। विपक्षी दलों के नेताओं ने एक बयान जारी कर कहा कि किसानों की मांगों को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा सरकार अहंकारी, अड़ियल और अलोकतांत्रिक बनी हुई है। केन्द्र सरकार की असंवेदनशीलता से स्तब्ध हम विपक्षी दलों ने तीनों कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग दोहराते हुए और किसानों के प्रति एकजुटता प्रकट करते हुए यह फैसला किया है कि राष्ट्रपति के अभिभाषण का बहिष्कार किया जाएगा।

Gyan Dairy

गुलाम नबी आजाद ने कहा कि कांग्रेस, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी, नेशनल कांफ्रेंस, द्रमुक, तृणमूल कांग्रेस, शिवसेना, सपा, राजद, माकपा, भाकपा, आईयूएमएल, आरएसपी, पीडीपी, एमडीएमके, केरल कांग्रेस एम, और एआईयूडीएफ ने संयुक्त रूप से यह निर्णय किया है।

Share